BJP National President, Shri Amit Shah Addressing Social Media Volunteers Meet at Dr. B.R. Ambedkar Auditorium, Dr. Ram Manohar Lohia Law University in Lucknow (U.P.)

Saturday, 03 September 2016


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा उत्तर प्रदेश सोशल मीडिया वालंटियर्स मीट में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु


प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में केंद्र की भाजपा-नीत एनडीए सरकार ने इन ढ़ाई वर्षों में एक भ्रष्टाचार विहीन, पारदर्शी और निर्णायक सरकार देने का काम किया है: अमित शाह
*****
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में हमने देश को एक सर्वस्पर्शी और सर्वसमावेशी विकास का मॉडल दिया है: अमित शाह
*****
सपा और बसपा कांग्रेस की यूपीए सरकार की बैसाखियाँ थीं और इसलिए यूपीए सरकार के पाप में कांग्रेस के साथ-साथ सपा और बसपा भी बराबर की हिस्सेदार है: अमित शाह
*****
कांग्रेस-नीत यूपीए के शासनकाल में ‘सोचेंगें, देखेंगें और करेंगें' की नीति पर काम करने वाली सरकार चलती थी जबकि वर्तमान में केंद्र में कर के दिखाने वाली सरकार है: अमित शाह
*****
उत्तर प्रदेश की जनता जब तक बुआ-भतीजे की सरकारों का क्रम बंद नहीं करती, तब तक यूपी का विकास नहीं हो सकता: अमित शाह
*****
13वें वित्त आयोग में यूपीए सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश को विकास के लिए 2.80 लाख करोड़ रुपये दिए गए जबकि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने उत्तर प्रदेश को 7.10 लाख करोड़ रुपया दिए जाने का निर्णय लिया है: अमित शाह
*****
अखिलेश सरकार जवाब दे कि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार द्वारा यूपी के विकास के लिए दी गई लगभग पांच लाख करोड़ की अतिरिक्त राशि का हिसाब कहाँ है: अमित शाह
*****
एक ओर सपा में अतीक अहमद, अफजल अंसारी और आजम खां जैसे लोग हैं तो दूसरी ओर बसपा में नसीमुद्दीन सिद्दिकी जैसे लोग हैं, यह उत्तर प्रदेश की जनता के लिए कुंएं और खाई जैसी स्थिति है: अमित शाह
*****
नसीमुद्दीन सिद्दिकी जैसे लोगों ने निर्लज्जता के साथ एक छोटी सी बच्ची के लिए जिस तरह से अपमानजनक शब्द बोले, इसके लिए उत्तर प्रदेश की जनता इन्हें कभी माफ़ नहीं करेगी: अमित शाह
*****
राहुल और नीतीश दोनों उत्तर प्रदेश में वोट कटवा पार्टी हैं, दोनों उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा को जिताने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं: अमित शाह
*****
उत्तर प्रदेश की जनता को इस तरह के वोट कटवा लोगों से सावधान रहने की जरूरत है ताकि प्रदेश में जनता को विकास से महरूम रखनेवाली और भ्रष्टाचारी सरकारें फिर से सत्ता में न आ सके: अमित शाह
*****
भाजपा शासित राज्यों ने विकास की नई कहानियां लिखी हैं जबकि उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा ने जाति की राजनीति करके सब कुछ बर्बाद कर दिया है: अमित शाह
*****
उत्तर प्रदेश में भी मालूम ही नहीं पड़ता कि वास्तव में मुख्यमंत्री कौन है: अमित शाह
*****
मोदी सरकार में औसतन हर 15 दिन में गरीब-कल्याण की एक योजना शुरू हुई है और इन योजनाओं का क्रियान्वयन ऐसे हुआ है कि ये योजनायें समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक पहुँची है: अमित शाह
*****
हम शांति तो चाहते हैं लेकिन अपनी सीमाओं पर अतिक्रमण किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं कर सकते: अमित शाह
*****
मथुरा में दिन-दहाड़े पुलिस अधिकारियों की हत्या कर दी जाती है, ऐसे में अखिलेश सरकार से राज्य की जनता की सुरक्षा की उम्मीद कैसे की जा सकती है: अमित शाह
*****

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज लखनऊ में उत्तर प्रदेश सोशल मीडिया वालंटियर्स मीट को संबोधित किया और उनसे उत्तर प्रदेश की भलाई के लिए राज्य में भारतीय जनता पार्टी के रूप में विकास का परिवर्तन लाने का आह्वान किया।
भाजपा अध्यक्ष ने यूपी की जनता को शत-शत नमन करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता के आशीर्वाद से ही देश में 30 वर्ष बाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में एक पूर्ण बहुमत की सरकार बनी, इतना ही नहीं, आजादी के बाद पहली बार किसी गैर कांग्रेसी दल को पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने का अवसर मिला। उन्होंने कहा कि इस पूर्ण बहुमत की सरकार का श्रेय उत्तर प्रदेश की जनता को जाता है।
यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर कटाक्ष करते हुए श्री शाह ने कहा कि अखिलेश यादव आज हमसे मोदी सरकार के ढ़ाई वर्षों के शासन का हिसाब मांग रहे हैं जबकि चुनाव उत्तर प्रदेश का आने वाला है। उन्होंने कहा कि हम जब 2019 में जनता के बीच वोट मांगने जायेंगें तो एक-एक वोट का हिसाब देश की जनता को देंगें, अभी तो जवाब देने की बारी अखिलेश सरकार की है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की जनादेश का सम्मान करते हुए जन-कल्याण और विकास की सरकार देने की परंपरा रही है। उन्होंने कहा कि ढ़ाई साल में भारतीय जनता पार्टी की नरेन्द्र मोदी सरकार ने जो काम करके दिखाया है, वह सपा, बसपा और कांग्रेस मिलकर 60 सालों में भी नहीं कर सकी।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता किसी झांसे में न रहे, केंद्र में 10 वर्षों तक कांग्रेस के नेतृत्त्व में यूपीए की जो सरकार थी, वह सपा और बसपा के समर्थन से चलने वाली सरकार थी। उन्होंने कहा कि सपा और बसपा कांग्रेस की यूपीए सरकार की बैसाखियाँ थीं और इसलिए यूपीए सरकार के पाप में कांग्रेस के साथ-साथ सपा और बसपा भी बराबर की हिस्सेदार है।
श्री शाह ने कहा कि इन ढ़ाई वर्षों में हमने सबसे पहले तो देश को तत्परता से काम करने वाला प्रधानमंत्री दिया है जो लोगों की समस्याएं सुनते हैं, समझते हैं और उसके त्वरित समाधान के लिए निर्णय लेते हैं। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के समय तो सोनिया जी और राहुल गांधी के अलावा प्रधानमंत्री की आवाज कोई सुन ही नहीं पाता था। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार में हर मंत्री अपने आप को प्रधानमंत्री मानता था और प्रधानमंत्री को तो कोई प्रधानमंत्री समझता ही नहीं था। इसी तरह, उत्तर प्रदेश में भी मालूम ही नहीं पड़ता कि वास्तव में मुख्यमंत्री कौन है! उन्होंने कहा कि सपा और बसपा के समर्थन से चलने वाली कांग्रेस-नीत यूपीए सरकार भ्रष्टाचार और घोटालों की सरकार थी। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के दौरान अंतरिक्ष से लेकर पाताल तक घोटाले-ही-घोटाले हुए जबकि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में केंद्र की भाजपा-नीत एनडीए सरकार ने इन ढ़ाई वर्षों में एक भ्रष्टाचार विहीन, पारदर्शी और निर्णायक सरकार देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हमारे विरोधी भी केंद्र की मोदी सरकार पर भ्रष्टाचार का कोई भी आरोप नहीं लगा पाये हैं। हमने भ्रष्टाचार की जगह विकास की राजनीति की है।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि गरीबों के लिए काम करने वाली सरकार कैसे कार्य करती है - यह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में केंद्र की भाजपा सरकार ने कर के दिखाया है। जन-धन योजना का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि आजादी के 67 साल बाद भी देश की 60 करोड़ आबादी के पास अपना एक बैंक अकाउंट तक नहीं था। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने 21 करोड़ लगों के बैंक खाते खुलवाये और विभिन्न योजनाओं में सरकार द्वारा दी जा रही सब्सिडी को ‘पहल' के माध्यम से सीधे उनके बैंक अकाउंट से जोड़ा। उन्होंने कहा कि इस योजना से जहां उपभोक्ताओं को तुरंत लाभ मिलने में आसानी हुई, वहीं फर्जी लाभार्थियों की पहचान कर केवल गैस सब्सिडी से लगभग 14,900 करोड़ रुपये से अधिक की राशि बचाई गई। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने इसके बाद ’गिव इट अप' मूवमेंट के तहत संपन्न लोगों से गैस सब्सिडी छोड़ने की अपील की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के एक अपील पर लगभग एक करोड़ से अधिक लोगों ने अपनी गैस सब्सिडी छोड़ दी। उन्होंने कहा कि इन सभी प्रयासों से अर्जित राशि का उपयोग प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के माध्यम से गरीब महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन में देने में किया गया। उन्होंने कहा कि 2018 तक इस योजना के तहत पांच करोड़ लोगों तक मुफ्त गैस कनेक्शन पहुंचाने की योजना है, अकेले उत्तर प्रदेश में अब तक 30 लाख गरीब परिवारों तक मुफ्त गैस कनेक्शन पहुंचाने का काम पूरा कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि पहली बार, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में किसी सरकार ने देश में गरीबों के लिए काम करना शुरू किया है।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए श्री शाह ने कहा कि कांग्रेस-नीत यूपीए के शासनकाल में ’सोचेंगें, देखेंगें और करेंगें' की नीति पर काम करने वाली सरकार चलती थी जबकि वर्तमान में केंद्र में कर के दिखाने वाली सरकार है। उन्होंने कहा कि हमने गाँवों के विकास पर ध्यान केन्द्रित किया तो शहरों के विकास के लिए भी योजनायें बनाई, हमने कृषि के विकास और कृषि-कल्याण के लिए पहल की तो उद्योग लगाने पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में हमने देश को एक सर्वस्पर्शी और सर्वसमावेशी विकास का मॉडल दिया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार में औसतन हर 15 दिन में गरीब-कल्याण की एक योजना शुरू हुई है और इन योजनाओं का क्रियान्वयन ऐसे हुआ है कि ये योजनायें समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक पहुँची है। उन्होंने कहा कि इसके अलावे, मोदी सरकार ने नमामि गंगे, स्वच्छ भारत अभियान और बेटी बचाओ - बेटी पढ़ाओ जैसे अभियान के माध्यम से सामाजिक बुराइयों से भी लड़ाई की शुरुआत की है।
श्री शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने भूतपूर्व सैनिकों की भलाई के लिए पिछले 40 वर्षों से लंबित ’ओआरओपी’ को एक ही साल में लागू करके उन्हें सम्मान देने का काम किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने दुनिया भर में देश का सिर उंचा किया है, आज एक आर्थिक और सामरिक महाशक्ति के रूप में विश्व-पटल पर भारत की अलग पहचान बन चुकी है और दुनिया भी अब मानने लगी है कि 21वीं सदी भारत की सदी है। उन्होंने कहा कि पहली बार मोदी सरकार ने ’व्यापार' और ’संस्कृति' को भारत की विदेश नीति का अभिन्न अंग बनाया। भारत की रक्षा नीति की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि हम शांति तो चाहते हैं लेकिन अपनी सीमाओं पर अतिक्रमण किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि आज पाकिस्तान को लेने के देने पड़ गए हैं, उनसे बलूचिस्तान और पाक अधिकृत कश्मीर संभल ही नहीं रहा है।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि किसानों की भलाई के लिए प्रधानमंत्री जी ने प्रधानमंत्री फसल बीमा शुरू की लेकिन उत्तर प्रदेश के किसानों को इसका कोई फायदा नहीं मिलने वाला क्योंकि सरकार ने इस योजना पर काम ही काफी देर से करना शुरू किया जबकि गुजरात में इसी वर्ष से किसानों को इस योजना का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश एक असीम संभावनाओं वाला प्रदेश है। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल के युवाओं के पसीने से देश समृद्ध हुआ है लेकिन उत्तर प्रदेश अपनी युवा शक्ति का फायदा नहीं उठा पाया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता जब तक बुआ-भतीजे की सरकारों का क्रम बंद नहीं करती, तब तक यूपी का विकास नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि भाजपा शासित राज्यों ने विकास की नई कहानियां लिखी हैं जबकि उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा ने जाति की राजनीति करके सब कुछ बर्बाद कर दिया है।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर करारा प्रहार करते हुए श्री शाह ने कहा कि राहुल और नीतीश दोनों उत्तर प्रदेश में वोट कटवा पार्टी हैं। उन्होंने कहा कि राहुल-नीतीश उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा को जिताने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने राज्य की जनता का आह्वान करते हुए कहा कि इस तरह के वोट कटवा लोगों से सावधान रहने की जरूरत है ताकि प्रदेश में जनता को विकास से महरूम रखनेवाली और भ्रष्टाचारी सरकारें फिर से सत्ता में न आ सके।
मथुरा और बुलंदशहर की घटनाओं का जिक्र करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि क़ानून व्यवस्था को सही किये बगैर विकास की कल्पना नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि मथुरा में दिन-दहाड़े पुलिस अधिकारियों की हत्या कर दी जाती है, ऐसे में अखिलेश सरकार से राज्य की जनता की सुरक्षा की उम्मीद कैसे की जा सकती है? उन्होंने कहा कि बुलंदशहर की घटना की बाद भी अखिलेश सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंगीं, ऐसी असंवेदनशील है उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार। उन्होंने कहा कि एक ओर सपा में अतीक अहमद, अफजल अंसारी और आजम खां जैसे लोग हैं तो दूसरी ओर बसपा में नसीमुद्दीन सिद्दिकी जैसे लोग हैं, यह उत्तर प्रदेश की जनता के लिए कुंएं और खाई जैसी स्थिति है। उन्होंने कहा कि नसीमुद्दीन सिद्दिकी जैसे लोगों ने निर्लज्जता के साथ एक छोटी सी बच्ची के लिए जिस तरह से अपमानजनक शब्द बोले, उत्तर प्रदेश की जनता इसके लिए उन्हें कभी माफ़ नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में इस प्रकार के गुंडागर्दी के लिए कोई जगह नहीं है, हम जनता के समर्थन के आधार पर चुनाव जीतना चाहते हैं।
मोदी सरकार की तरफ से यूपी सरकार को दी गई आर्थिक सहायता में व्यापक वृद्धि का जिक्र करते हुए श्री शाह ने कहा कि 13वें वित्त आयोग में कांगेस-नीत यूपीए सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश को विकास के लिए 2.80 लाख करोड़ रुपये दिए गए जबकि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने उत्तर प्रदेश को विकास के लिए 7.10 लाख करोड़ रुपया दिए जाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि अखिलेश सरकार जवाब दे कि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार द्वारा यूपी के विकास के लिए दी गई लगभग पांच लाख करोड़ की अतिरिक्त राशि का हिसाब कहाँ है? उन्होंने कहा कि हमारे संविधान के अनुसार किसी राज्य में विकास की जिम्मेदारी संबधित राज्य सरकार की होती है लेकिन उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के रहते विकास संभव ही नहीं है। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल के लोगों के आंसू पोंछने की जिम्मेदारी हमारी है और इसलिए उत्तर प्रदेश में विकास के लिए, यहाँ के लोगों की भलाई के लिए राज्य में सत्ता परिवर्तन करना पड़ेगा। उन्होंने प्रदेश भर से आये सभी साइबर योद्धाओं का आह्वान करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में विकास रूपी परिवर्तन लाने का संकल्प लेकर राज्य में गरीबों के कल्याण के प्रति समर्पित भारतीय जनता पार्टी की दो-तिहाई बहुमत की सरकार बनाने का मार्ग प्रशस्त कीजिये।


Download PDF