इमरजेंसी में जेपी नहीं होते तो लोकतंत्र ही खत्म हो जाता : अमित शाह - Jagran