जेपी न होते, तो देश में लोकतंत्र जिन्दा न रहता : अमित शाह - Amar Ujala