Press Statement Issued by BJP National President, Shri Amit Shah

Sunday, 01 January 2017


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा जारी प्रेस वक्तव्य


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का बैंको को उनकी पारंपरिक प्राथमिकताओं से हट कर गरीब, निम्न मध्यम वर्ग और मध्यम वर्ग की आवश्यकताओं को प्राथमिकता देने की अपील करने के लिए अभिनन्दन किया | श्री शाह ने प्रधानमंत्री के अव्वाहन पर स्टेट बैंक आफ इंडिया द्वारा बेंचमार्क ब्याज दर में 0.9% की कटौती करने का स्वागत किया | श्री शाह ने कहा कि 8, नवम्बर 2016 को नोटबंदी की घोषणा के तुरंत बाद स्टेट बैंक ने पहले ही ब्याज में 0.15% की कटौती की थी, अतः नोटबंदी के बाद से अब तक स्टेट बैंक द्वारा ब्याज दर में कुल 1.05% की कटौती की जा चुकी है |

श्री शाह ने कहा कि घटी हुई ब्याज दरो से आर्थिक गतिविधियों को बल मिलेगा जिसका विशेष लाभ लघु उद्योगों , मध्यम उद्योगों और कुटीर उद्योगों को होगा | श्री शाह ने घटी हुई ब्याज दरें को प्रधानमंत्री द्वारा MSME को प्रोत्साहित करने के विभिन्न निर्णयों की कड़ी में एक महतवपूर्ण कदम बताया | श्री शाह ने कहा कि इन निर्णयों का रोजगार सृजन में दूरगामी प्रभाव होगा जिसका विशेष लाभ छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों के कुशल और अर्धकुशल नवजवानों को मिलेगा |

श्री शाह ने कहा कि ब्याज दर घटने से आवास और वाहनों के लिए ऋण कम ब्याज में उपलब्ध होगा जिसका सीधा लाभ मध्यम और निम्न मध्यम वर्ग को होगा | छोटे शहरों और ग्रामीण अंचलों में आवासीय निर्माण गतिविधियों को बढ़ावा मिलने से अकुशल श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिलने की संभावनाए बढ़ेगी | प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतरगत ग्रामीण क्षेत्रो में गरीबो के लिए 33% अधिक आवास और गावों में घर बनाने या उसके विस्तारीकरण के लिए 2 लाख तक के ऋण पर 3% ब्याज की कटौती से भी ग्रामीण अंचलों में आवासीय निर्माण को भारी बल मिलेगा | श्री शाह ने कहा कि अपने गाँव –घर में रोजगार उपलब्ध होने से गरीबो का रोजगार की तलाश में होने वाले पलायन भी कम होगा |

श्री शाह विश्वास जताया कि विमुद्रीकरण के बाद हमारे बैंको के पास एकत्रित संसाधनों से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की गरीब कल्याण मुहीम को वांछनीय बल मिलेगा और देश एक व्यापक आधार वाली मजबूत अर्थव्यवस्था की ओर तेजी से बढेगा |


Download PDF