Back

Salient Points of Speech of Union Home and Cooperation Minister and senior leader of BJP, Shri Amit Shah in the public meetings in Ayodhya and Sant Kabir Nagar (Uttar Pradesh)

Dec. 31, 2021

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता श्री अमित शाह द्वारा प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या और संत कबीर नगर (उत्तर प्रदेश) में जन-सभाओं में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

 

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी 2014, 2017 और 2019 के बाद 2022 में भी लगातार चौथी बार भारी बहुमत से 300 से अधिक सीटों पर विजयश्री के साथ सरकार बनाने जा रही है।

 

बुआ-बबुआ के शासन में हमारी आस्था के प्रतीकों का सम्मान नहीं होता था। आज प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी हर एक आस्था के स्थान को गौरव प्रदान कर रहे हैं।

 

आज भ्रष्टाचारियों के यहाँ से ठेले भर-भर के कैश बरामद हो रहे हैं तो अखिलेश यादव जी के पेट में मरोड़ हो रहा है। समाजवादी इत्र की दुर्गंध पूरे उत्तर प्रदेश में फ़ैल रही है। काले धन जमा करने वालों पर जब छापा पर रहा है तो अखिलेश यादव जी को दर्द क्यों हो रहा है?

 

भगवान् श्रीराम के भव्य मंदिर को बनने से रोकने के लिए कांग्रेस, सपा और बसपा ढेर सारे प्रयत्न किए। रामलला को इतने दिन तक क्यों टेंट में रहना पड़ा? रामभक्तों पर किसने गोलियां चलाई, किसने रामभक्तों पर डंडे चलवाए? रामनवमी और दीपोत्सव जैसे भव्य कार्यक्रमों को किसने बंद किया था?

 

श्रीराम जन्मभूमि में असंख्य हिन्दुओं की आस्था के देदीप्यमान प्रतीक श्री रामलला के दर्शन पाकर अभिभूत हूं। सदियों के संघर्ष के बाद श्री रामलला को उनके उचित स्थान पर विराजमान देख हृदय अत्यंत भावविभोर है।

 

इस भूमि ने वर्षों तक प्रभु श्रीरामलला के जन्मस्थान के लिए संघर्ष किया है। जब-जब आक्रान्ताओं ने विध्वंस किया तब-तब, हर बार विनाश पर निर्माण ने विजय प्राप्त की। भाजपा की सरकार में अयोध्या को अपना प्राचीन गौरव वापस दिलाने का काम किया है।

 

बुआ-बबुआ-बहन की निजाम (NIZAM) का मतलब है - ‘N’ से नसीमुद्दीन, ‘I' से इमरान मसूद, ‘Z' से आजम खान, ‘A’ से अतीक अहमद और ‘M' से मुख्तार अंसारी। उत्तर प्रदेश की जनता को बुआ, बबुआ और बहन का NIZAM नहीं, डबल इंजन सरकार का सुशासन चाहिए।

 

सपा, बसपा और कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश को पांच बाहुबली देने के अलावा कुछ भी नहीं किया। सपा सरकार की पहचान थी तीन ‘P’ (पी) अर्थात् परिवारवाद, पक्षपात और पलायन जबकि भाजपा की पहचान है तीन ‘वी’ अर्थात् विकास, व्यापार और विरासत। अयोध्या और काशी इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है।

 

बुआ, बबुआ और बहन उत्तर प्रदेश में फिर से लूट, भ्रष्टाचार और अराजकता का शासन कायम करना चाहते हैं, उन्हें प्रदेश की जनता से कोई मतलब नहीं है।

 

पहले सपा-बसपा के राज में गुंडों, अपराधियों और माफियाओं का बोलबाला होता था। आज योगी आदित्यनाथ की सरकार में ये गुंडे और माफिया खुद पलायन करने पर विवश हैं। पहले पुलिस बाहुबलियों से डर कर रहती थी, आज बाहुबली पुलिस के सामने खुद सरेंडर कर रहे हैं।

 

अयोध्या में भगवान् श्रीराम के नाम से अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा बन रहा है। राम की पौड़ी का कायाकल्प हो रहा है। दीपोत्सव के माध्यम से अयोध्या की सांस्कृतिक पहचान को संरक्षित किया जा रहा है।

 

उत्तर प्रदेश में सबसे बड़ा बस अड्डा बन रहा है, मल्टी लेवल पार्किंग बन रही है। भरत कुंड, हनुमान कुंड, सीता कुंड, गणेश कुंड, दशरथ कुंड आदि कुंडों को पुनर्जीवित किया जा रहा है।

 

गोरखपुर में एम्स बना है, कुशीनगर में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा बन रहा है। गोरखपुर में खाद कारखाने को दुबारा शुरू किया गया है। गोरखपुर में कम्प्रेस्ड बॉयो गैस प्लांट लगाया जा रहा है।

 

उत्तर प्रदेश में पिछले पांच वर्षों में 31 नए मेडिकल कॉलेज बने हैं। डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर बन रहा है, ब्रह्मोस का निर्माण होने वाला है। उत्तर प्रदेश में पिछले पांच वर्षों में 5 नए एक्सप्रेस-वे बने हैं।

 

पूर्वांचल को कभी चीनी का कटोरा कहा जाता था लेकिन सपा-बसपा की सरकार ने इस उद्योग ख़त्म कर दिया। सपा-बसपा सरकार में लगभग 30 चीनी मिलें बंद हुई, कई चीनी मिलें बेच दी गई। हमारी सरकार में नई चीनी मिलें खुली हैं और 20 चीनी मीलों का आधुनिकीकरण और विस्तारीकरण हुआ है।

 

हमारी सरकार ने गन्ना का रेट बढ़ाया, रॉ शुगर पर ड्यूटी बढ़ाया गया, एथेनॉल ब्लेंडिंग की इजाजत दी गई ताकि गन्ना किसानों को लाभ हो। हमारी सरकार ने पिछले पांच वर्षों में 1.48 लाख करोड़ रुपये बकाये का भुगतान किया है। हमारी सरकार ने 86 लाख किसानों के कृषि ऋण माफ़ किये।

 

हमारी डबल इंजन की सरकार में उत्तर प्रदेश में पिछले दो वर्षों से डबल राशन और मुफ्त राशन उपलब्ध कराया जा रहा है।

 

 

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता श्री अमित शाह ने आज शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या और संत कबीर नगर में आयोजित जन-सभाओं को संबोधित किया और माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र और योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार को विकास और आस्था के संरक्षण का अग्रदूत बताते हुए प्रदेश की जनता से एक बार फिर यूपी में भारी बहुमत से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने की अपील की। इससे पहले केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री राम कथा पार्क हैलीपैड पर उतर कर सीधे हनुमानगढ़ी पहुंचे और बजरंगबली का दर्शन-पूजन किया। इसके पश्चात् वे मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम जन्मभूमि पहुंचे और रामलला की पूजा-अर्चना एवं आरती की। उन्होंने श्री राम मंदिर निर्माण का कार्य देखा साथ ही सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी चर्चा की। इसके बाद वे श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास जी से मिलने उनके आश्रम श्री मणिराम दास की छावनी पहुंचे। उन्होंने महंत नृत्य गोपाल दास जी का हालचाल पूछा और आशीर्वाद लिया। वे आज बरेली के कुतुबखाना चौराहा से पटेल चौक तक रोड शो भी करेंगे।

 

श्री शाह ने कहा कि बुआ-बबुआ के शासन में हमारी आस्था के प्रतीकों का सम्मान नहीं होता था। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी हर एक आस्था के स्थान को गौरव प्रदान करने का काम कर रहे हैं। जब देश के जनता ने पूर्ण बहुमत के साथ भाजपा की सरकार बनाई, आदरणीय श्री नरेन्द्र भाई मोदी देश के प्रधानमंत्री बने तो आज श्रीराम जन्मभूमि पर ही रामलला का मंदिर बन रहा है। भगवान् श्रीराम के भव्य मंदिर को बनने से रोकने के लिए कांग्रेस, सपा और बसपा ने अपने शासन में ढेर सारे प्रयत्न किए। आप सभी को याद होगा, इन लोगों ने कारसेवकों पर गोली चलाई थी। राम सेवकों पर डंडे बरसाए थें, रामसेवकों को मारकर सरयू नदी में बहा दिया गया था। यह सोचने का समय है कि आखिर रामलला को इतने दिन तक क्यों टेंट में रहना पड़ा? किसने राम मंदिर के निर्माण को रोक कर रखा था? रामभक्तों और कारसेवकों पर किसने गोलियां चलाई, किसने रामभक्तों पर डंडे चलवाए? रामनवमी और दीपोत्सव जैसे भव्य कार्यक्रमों को किसने बंद किया था? इस भूमि ने वर्षों तक प्रभु श्रीरामलला के जन्मस्थान के लिए संघर्ष किया है। यहां अनेक बार विनाश भी हुआ, निर्माण भी हुआ। मगर हर बार विनाश पर निर्माण ने विजय प्राप्त की। भाजपा की सरकार में अयोध्या को अपना प्राचीन गौरव वापस दिलाने का काम किया है। अयोध्या में प्रभु श्रीराम के नाम से जोड़कर श्रीराम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बन रहा है जो दुनिया के सभी स्थानों से राम भक्तों को अयोध्या लाने का काम करेगा। श्री काशी विश्वनाथ धाम का भव्य निर्माण हुआ है। माँ विंध्यवासिनी कॉरिडोर का निर्माण हो रहा है।

 

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता को बुआ-बबुआ-बहन का निजाम नहीं चाहिए। बुआ-बबुआ-बहन की निजाम (NIZAM) का मतलब है - ‘N’ से नसीमुद्दीन, ‘I' से इमरान मसूद, ‘Z' से आजम खान, ‘A’ से अतीक अहमद और ‘M' से मुख्तार अंसारी। उत्तर प्रदेश की जनता को बुआ, बबुआ और बहन का NIZAM नहीं, डबल इंजन सरकार का सुशासन चाहिए। इन लोगों ने पांच बाहुबली देने के अलावा उत्तर प्रदेश का कोई विकास नहीं किया। सपा सरकार की पहचान थी तीन ‘P’ (पी) अर्थात् परिवारवाद, पक्षपात और पलायन जबकि भारतीय जनता पार्टी की पहचान है तीन ‘वी’ अर्थात् विकास, व्यापार और सांस्कृतिक विरासत। अयोध्या और काशी इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में योगी आदित्यनाथ सरकार अयोध्या के महान गौरव को पुनः भव्य रूप में प्रतिष्ठित करने का महती कार्य कर रहे हैं।

 

श्री शाह ने कहा कि बुआ, बबुआ और बहन उत्तर प्रदेश में फिर से लूट, भ्रष्टाचार और अराजकता का शासन कायम करना चाहते हैं, उन्हें प्रदेश की जनता से कोई मतलब नहीं है। आज भ्रष्टाचारियों के यहाँ से ठेले भर-भर के कैश बरामद हो रहे हैं तो अखिलेश यादव जी के पेट में मरोड़ हो रहा है। समाजवादी इत्र की दुर्गंध पूरे उत्तर प्रदेश में फ़ैल रही है। काले धन जमा करने वालों पर जब छापा पर रहा है तो जनता तो खुश हो रही है, उन्हें कोई तकलीफ नहीं फिर अखिलेश यादव जी को दर्द क्यों हो रहा है? पहले सपा-बसपा के राज में गुंडों, अपराधियों और माफियाओं का बोलबाला होता था, ये लोगों को पलायन करने पर मजबूर करते थे। योगी आदित्यनाथ की सरकार में ये गुंडे और माफिया खुद पलायन करने पर विवश हैं। सपा-बसपा की सरकार में उत्तर प्रदेश पुलिस बाहुबलियों से डर कर रहती थी, आज बाहुबली पुलिस के सामने खुद सरेंडर कर रहे हैं। ये प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी सरकार है जिसने धारा 370 ख़त्म किया, ट्रिपल तलाक का खात्मा किया और सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के माध्यम से आतंकवाद पर कड़ा प्रहार किया।

 

अवध क्षेत्र में विकास को रेखांकित करते हुए केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान् श्रीराम के नाम से एक भव्य अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा बन रहा है। यहाँ एक भव्य रेलवे स्टेशन बन रहा है। राजर्षि दशरथ मेडिकल कॉलेज बन रहा है। एक आयुर्वेदिक कॉलेज भी बन रहा है। पूर्वांचल एकक्सप्रेस-वे बन रहा है। राम की पौड़ी का कायाकल्प शुरू हो चुका है। दीपोत्सव के माध्यम से अयोध्या की सांस्कृतिक पहचान को संरक्षित किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में सबसे बड़ा बस अड्डा बन रहा है, मल्टी लेवल पार्किंग बन रहा है, बिजली के तारों को अंडरग्राउंड किया जा रहा है। भरत कुंड, हनुमान कुंड, सीता कुंड, गणेश कुंड, दशरथ कुंड आदि कुंडों को पुनर्जीवित किया जा रहा है। युवाओं के लिए भगवान् श्रीराम के नाम से जोड़ते हुए एक यूनिवर्सिटी भी बनाई जा रही है।

 

संत कबीर नगर में पूर्वांचल में डबल इंजन की सरकार में हुए विकास कार्यों को विस्तार से बताते हुए श्री शाह ने कहा कि गोरखपुर में एम्स बना है, कुशीनगर में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा बन रहा है। पिपराइच, गोरखपुर और बस्ती में 27-27 मेगावाट के प्लांट्स लगाए जा रहे हैं। गोरखपुर में खाद कारखाने को दुबारा शुरू किया गया है। गोरखपुर में कम्प्रेस्ड बॉयो गैस प्लांट लगाया जा रहा है। गोरखपुर में मेट्रो का डीपीआर बन गया है। 1,500 किमी लंबा वाराणसी-हल्दिया जलमार्ग बनाय गया है। इलेक्ट्रिक ट्रेन के लिए पूर्वांचल में रेल रूटों का विद्युतीकरण किया गया है। गोरखपुर में दिमागी बुखार के संबंध में एक रिसर्च इंस्टीट्यूट की स्थापना की गई है। दिमागी बुखार के मामलों में पिछले कुछ समय में लगभग 85% की कमी आई है। जिला अस्पतालों को उन्नत किया गया है। पंडित मदन मोहन मालवीय केंसर सेंटर स्थापित किया गया है। सिद्धार्थनगर में मेडिकल कॉलेज बनाए गए हैं। सबसे अधिक कोविड वैक्सीनेशन भी उत्तर प्रदेश में ही हुआ है। लगभग 1.80 लाख नए कोविड बेड्स लगाए गए हैं, 541 ऑक्सीजन प्लांट्स लगाए गए हैं। पूरे उत्तर प्रदेश में 31 नए मेडिकल कॉलेज बनाए गए हैं। उत्तर प्रदेश में डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर बन रहा है, ब्रह्मोस का निर्माण होने वाला है। आकांक्षी जिले में बहराइच, बलरामपुर और श्रावस्ती को शामिल किया गया है। लखनऊ में इंस्टीट्यूट ऑफ फोरेंसिक सायंस का शिलान्यास भी हुआ है। उत्तर प्रदेश में पिछले पांच वर्षों में 5 नए एक्सप्रेस-वे बने हैं।

 

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि पूर्वांचल को कभी चीनी का कटोरा कहा जाता था लेकिन सपा-बसपा की सरकार ने चीनी को उद्योग ख़त्म कर के रख दिया था। सपा-बसपा सरकार में लगभग 30 चीनी मिलें बंद हुई, कई चीनी मिलें औने-पौने दाम में बेचीं गई। हमारी सरकार में नई चीनी मिलें खुली हैं और 20 चीनी मीलों का आधुनिकीकरण और विस्तारीकरण हुआ है। पूर्वांचल में भी दो नई चीनी मिलें खुली हैं। हमारी सरकार ने गन्ना का रेट बढ़ाया, रॉ शुगर पर ड्यूटी बढ़ाया गया, एथेनॉल ब्लेंडिंग की इजाजत दी गई ताकि गन्ना किसानों को लाभ हो। हमारी सरकार ने पिछले पांच वर्षों में 1.48 लाख करोड़ रुपये बकाये का भुगतान किया है। हमारी सरकार ने अखिलेश यादव सरकार के समय के बकाये का भी भुगतान किया। हमारी सरकार ने 86 लाख किसानों के कृषि ऋण माफ़ किये। पिछले पांच वर्षों में डबल इंजन की सरकार में उत्तर प्रदेश देश की दूसरे नंबर की अर्थव्यवस्था बनी है। अब हम उत्तर प्रदेश को देश का सबसे विकसित राज्य बनाने की ओर आगे बढ़ रहे हैं। गरीबों के लिए घर बन रहे हैं और घर में पानी, बिजली, शौचालय और गैस के कनेक्शन दिए गये हैं। हमारी डबल इंजन की सरकार में उत्तर प्रदेश में पिछले दो वर्षों से डबल राशन और मुफ्त राशन उपलब्ध कराया जा रहा है।