Back

Union Home and Cooperation Minister Shri Amit Shah inaugurated and laid the foundation stone of various development schemes in his parliamentary constituency Gandhinagar through virtual medium

Dec. 29, 2021

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने अपने संसदीय क्षेत्र गांधीनगर में विभिन्न विकास योजनाओं का वर्चुअल माध्यम से लोकार्पण और शिलान्यास किया

 

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी की जन्म जयंती को पूरे भारत में सुशासन दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है

इसी उपलक्ष्य में गुजरात सरकार द्वारा 25 से 31 दिसम्बर तक सुशासन सप्ताह मनाया जा रहा है

अटल जी ने पहली बार सुशासन की संरचनात्मक व्याख्या करने का काम किया और उनके बाद प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने प्रशासनिक सुधार के हर क्षेत्र में सुशासन की कल्पना को एक मूर्त स्वरूप प्रदान किया है

चाहे प्रशासनिक सुधार हों, प्रशिक्षण हो, पारदर्शिता लाना हो, तकनीक का उपयोग कर सुगम व्यवस्था बनानी हो और या फिर लोगों का बोझ कम करना हो प्रधानमंत्री मोदी जी ने विभिन्न क्षेत्रों में सुशासन की एक कल्पना देश के सामने रखी है

प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में केंद्र में हमारी पार्टी की सरकार आई है तब से अविरत रूप से विकास की गति दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है और हमारे गुजरात में भी हर क्षेत्र में विकास हो रहा है

श्री नरेंद्र मोदी ने 2021 में दस क्षेत्रों में 58 संकेतक के एक सुशासन इंडेक्स की शुरुआत कर राज्यों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा आरंभ की है

58 संकेतकों के सूचकांक में गुजरात कम्पोजिट रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर है,  यह हर गुजराती के लिए गौरव का विषय है

अहमदाबाद-गांधीनगर वासियों के बीच उपस्थित होना मेरे लिए हमेशा हर्ष का क्षण होता है

आपने मुझे मई 2019 में चुनकर संसद भेजा तब से मैंने यही प्रयास किया है कि गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र कैसे देश का सबसे उत्कृष्ट लोकसभा क्षेत्र बने

गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र में नागरिक, विद्यार्थी और यात्री सुविधाओं को सुधारने और बढाने के कई लिए विभिन्न एजेंसीयों ने जो कार्य शुरू किये आज उनमें से कई कार्यों और योजनाओं की नींव रखी जा रही है और लोकार्पण हो रहा है

वर्ष 2021 में गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र में कुल 2342 करोड़ रूपए के विकास कार्य किए गए हैं, जिनमें से 1413 करोड़ रूपए की लागत से 1261 कार्यों का लोकार्पण हो चुका है और 929 करोड़ रूपए की लागत से 106 कार्यों का शिलान्यास हुआ है

स्वर्ण जयंती मुख्यमंत्री शहरी विकास योजना 2019-20 के तहत गांधीनगर के विविध सेक्टर में 12.26 करोड़ रुपए की लागत से उद्यानों के जीर्णोद्धार का कार्य किया गया है

स्वर्ण जयंती मुख्यमंत्री शहरी विकास योजना वर्ष 2018-19 के अंतर्गत गांधीनगर महानगर निगम द्वारा 3 करोड़ 73 लाख रुपए की लागत से नवीन नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का नवीनीकरण एवं निर्माण का कार्य किया गया

प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी एफोर्डेबल हाउसिंग के अंतर्गत बावला नगरपालि‍का द्वारा 34 करोड़ रुपए की आवास योजना का शिलान्यास, इससे आने वाले समय में लाभार्थियों के रहने के लिए उत्तम आवास की सुविधा प्राप्त होगी

मोदी जी के नेतृत्व में गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र के विकास कार्यों के लिए राज्य सरकार, निगम, जिला प्रशासन, नगर पालिका सहित स्थानीय निकायों का पूर्ण सहयोग प्राप्त हुआ है और सभी के संयुक्त प्रयासों से गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र विकास के नए आयाम छू रहा है

 

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने आज अपने संसदीय क्षेत्र गांधीनगर में विभिन्न विकास योजनाओं का वर्चुअल माध्यम से लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस अवसर पर गुजरात के मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र पटेल समेत अनेक गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।

 

 

     इस अवसर पर अपने सम्बोधन में श्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी की जन्म जयंती को पूरे भारत में सुशासन दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है। इसी उपलक्ष्य में गुजरात सरकार द्वारा 25 से 31 दिसम्बर तक सुशासन सप्ताह मनाया जा रहा है, जिसके तहत गुजरात के मुख्यमंत्री और विविध मंत्रीगणों द्वारा राज्य के विविध जिलों एवं गावों मे विकास की विविध परियोजनाओं को ले जाने का काम नियमित रूप से किया जा रहा है। उन्होने कहा कि जब से प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में केंद्र में हमारी पार्टी की सरकार आई है तब से अविरत रूप से विकास की गति दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है और हमारे गुजरात में भी हर क्षेत्र में विकास हो रहा है। गुजरात में होने वाली वायब्रन्ट गुजरात समिट-2022 विकास की इस गति को और आगे बढ़ाएगी।

     केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी जी ने पहली बार सुशासन की संरचनात्मक व्याख्या करने का काम किया और उनके बाद प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने प्रशासनिक सुधार के हर क्षेत्र में सुशासन की कल्पना को एक मूर्त स्वरूप प्रदान किया है। चाहे प्रशासनिक सुधार हों, प्रशिक्षण हो, पारदर्शिता लाना हो, तकनीक का उपयोग कर सुगम व्यवस्था बनानी हो और या फिर लोगों का बोझ कम करना हो प्रधानमंत्री मोदी जी ने विभिन्न क्षेत्रों में सुशासन की एक कल्पना देश के सामने रखी है। श्री शाह ने कहा कि उनके नेतृत्व में भारत सरकार और राज्य सरकारों ने सुशासन के अनेक कार्य किए हैं।

 

 

     श्री अमित शाह ने कहा कि श्री नरेंद्र मोदी ने 2021 में दस क्षेत्रों में 58 संकेतक के एक सुशासन इंडेक्स की शुरुआत कर राज्यों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा आरंभ की है। 58 संकेतकों के सूचकांक में गुजरात कम्पोजिट रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर है। श्री अमित शाह ने कहा कि मैं इसके लिए गुजरात सरकार और मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र पटेल को हार्दिक शुभकामनायें देता हूँ। उन्होने कहा कि यह हर गुजराती के लिए गौरव का विषय है। गुजरात ने 10 में से 5 क्षेत्रों में शानदार प्रदर्शन किया है। इनमें आर्थिक शासन, मानव संसाधन विकास, सार्वजनिक बुनियादी ढांचा व उपयोगिताएं, सामाजिक कल्याण व विकास और न्यायिक व सार्वजनिक सुरक्षा शामिल हैं।

     केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि अहमदाबाद-गांधीनगर वासियों के बीच उपस्थित होना मेरे लिए हमेशा हर्ष का क्षण होता है। आपने मुझे मई 2019 में चुनकर संसद भेजा तब से मैंने यही प्रयास किया है कि गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र कैसे देश का सबसे उत्कृष्ट लोकसभा क्षेत्र बने। उन्होने कहा कि मुझे यह बताते हुये अति हर्ष हो रहा है कि, गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र में नागरिक, विद्यार्थी और यात्री सुविधाओं को सुधारने और बढाने के कई लिए सभी एजेंसीयों ने जो कार्य शुरू किये आज उनमें से कई कार्यों और योजनाओं की नींव रखी जा रही है और लोकार्पण हो रहा है।

 

 

     श्री अमित शाह ने कहा कि वर्ष 2021 में गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र में कुल 2342 करोड़ रूपए के विकास कार्य किए गए हैं, जिनमें से 1413 करोड़ रूपए की लागत से 1261 कार्यों का लोकार्पण हो चुका है और 929 करोड़ रूपए की लागत से 106 कार्यों का शिलान्यास हुआ है। उन्होंने कहा कि मोदी जी के नेतृत्व में गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र के विकास कार्यों के लिए राज्य सरकार, निगम, जिला प्रशासन, नगर पालिका सहित स्थानीय निकायों का पूर्ण सहयोग प्राप्त हुआ है और सभी के संयुक्त प्रयासों से गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र विकास के नए आयाम छू रहा है। श्री शाह ने यह भी कहा कि गांधीनगर महानगर निगम क्षेत्र द्वारा स्वर्ण जयंती मुख्यमंत्री शहरी विकास योजना 2019-20 के तहत गांधीनगर के विविध सेक्टर में 12.26 करोड़ रुपए की लागत से उद्यानों के जीर्णोद्धार का कार्य किया गया है। इन उद्यानों में बच्चों के खेलने की जगह, व्यायाम उपकरण के लिए जिम क्षेत्र, बैठने के लिए बेंच, जॉगिंग ट्रैक, सिंचाई प्रणाली, परिसर की दीवार, प्रकाश की सुविधा, सुरक्षा केबिन, स्टोर रूम और पीने के पानी की सुविधा शामिल है। इसके अलावा स्वर्ण जयंती मुख्यमंत्री शहरी विकास योजना वर्ष 2018-19 के अंतर्गत गांधीनगर महानगर निगम द्वारा 3 करोड़ 73 लाख रुपए की लागत से नवीन नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का नवीनीकरण एवं निर्माण का कार्य  किया गया है।

     केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि देशभर में कोई भी आदमी बिना घर के ना रहे और भारत के हर नागरिक को आवास देने के लिए आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा 25 जून, 2015 को प्रधानमंत्री आवास योजना – शहरी मिशन लॉन्च किया गया था। प्रधानमंत्री आवास योजना – शहरी एफोर्डेबल हाउसिंग के अंतर्गत बावला नगरपालि‍का ने सितम्बर 2020 में कुल 468 आवासों को मंजूरी दी। इनमें EWS-1 और EWS-2 श्रेणी के आवास शामिल है। श्री शाह ने कहा कि उन्हे यह बताते हुए बहुत हर्ष हो रहा कि आज एफोर्डेबल हाउसिंग के अंतर्गत बावला नगरपालिका द्वारा 34 करोड़ रुपए की आवास योजना का शिलान्यास हुआ है। इससे आने वाले समय में लाभार्थियों के रहने के लिए उत्तम आवास की सुविधा प्राप्त होगी।

     कुछ राज्यों में कोरोना का प्रसार बढने पर चिंता व्यक्त करते हुए श्री अमित शाह ने कहा कि हम सबको मिलकर कोरोना से बचने के प्रयास करने चाहिए। उन्होनें कहा कि राष्ट्रव्यापी कोविड टीकाकरण के तहत अब तक 143 करोड़ से अधिक टीके लगाए जा चुके हैं। देश में वैक्सीनेशन योग्य नागरिकों में से 60 प्रतिशत से भी अधिक लोगों को दोनों डोज़ और 90 प्रतिशत को पहली डोज लग चुकी है। केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान को और विस्तार देते हुए प्रधानमंत्री जी ने 3 जनवरी, 2022 से 15 साल से 18 साल की आयु के बीच के बच्चो के लिए वैक्सीनेशन प्रारंभ करने का निर्णय लिया है। साथ ही 10 जनवरी, 2022 से कॉरोना वॉरियर्स यानि हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 वर्ष से ऊपर की आयु के कॉ-मॉरबिडिटी वाले नागरिकों को उनके डॉक्टर की सलाह पर Precaution Dose प्रारंभ की जा रही है। उन्होने कहा कि यह फैसला, कोरोना के खिलाफ देश की लड़ाई