Salient Points of Karyakartas Sammelan in Aurangabad Bihar

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा बिहार के औरंगाबाद में कार्यकर्ता सम्मलेन में दिए गए उद्बोधन के मुख्य अंश

श्री नरेन्द्र मोदी सरकार का एक ही मकसद है - विकास के जरिये गरीबों, शोषितों और वंचितों का कल्याण करना: अमित शाह
************
हिन्दुस्तान के विकास के मूल में बिहार के युवाओं का पसीना है: अमित शाह
************
श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में “सबका साथ, सबका विकास” की अवधारणा के साथ भाजपा बिहार के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं: अमित शाह
************
भाजपा शुरू से ही आरक्षण की समर्थक रही है और इस पर किसी भी तरह के पुनर्विचार का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता: अमित शाह
************
हमारा लक्ष्य बिहार को जंगलराज से मुक्ति दिलाना: अमित शाह
************
श्री नीतीश कुमार ने बिहार की जनता के साथ विश्वासघात किया है: अमित शाह
************
भाजपा की संस्कृति ही विकास की रही है: अमित शाह
************
हम अगड़े पिछड़े की राजनीति नहीं करते: अमित शाह
************
हमारी सभी योजनाएं गरीबों के कल्याण के लिए समर्पित: अमित शाह
************
यह चुनाव बिहार के विकास और राज्य के युवाओं के बेहतर भविष्य का चुनाव है: अमित शाह
************

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज शुक्रवार को बिहार के औरंगाबाद में भाजपा कार्यकर्ताओं के सम्मलेन को सम्बोधित किया और बिहार से भ्रष्टाचार, जंगलराज और कुशासन की सरकार को जड़ से उखाड़ कर राज्य में भाजपा की अगुआई में राजग की सरकार बनाने के लिए एकजुट हो जाने की अपील की।

भाजपा अध्यक्ष श्री अमित शाह ने श्री लालू यादव पर आरक्षण को लेकर अफवाह फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा शुरू से ही आरक्षण की समर्थक रही है और इस पर किसी भी तरह के पुनर्विचार का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता। उन्होंने कहा कि जन संघ के समय से ही भाजपा आरक्षण के पक्ष में रही है और इसपर किसी भी तरह के परिवर्तन की कोई गुंजाईश नहीं है। उन्होंने कहा कि श्री लालू यादव जी जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, "यह साफ़ दिख रहा है कि इस बार राजग बिहार में भारतीय जनता पार्टी की अगुआई में दो तिहाई की बहुमत से सरकार बनाने जा रही है।" उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को भाजपा की शक्ति बताते हुए कहा कि हमारी पार्टी कार्यकर्ताओं की पार्टी है और हमारे विजय के मूल में पार्टी के सशक्त और सक्षम कार्यकर्ता हैं।

श्री शाह ने कहा कि बिहार व्यापार, कृषि, कला, शिक्षा और विज्ञान का केंद्र रहा है। उन्होंने कहा कि वर्षों तक अखंड भारत पर शासन करनेवाला बिहार आज बिहार विकास के मापदंडों पर देश के अन्य राज्यों से काफी पिछड़ गया है।

उन्होंने कहा कि अभी भी बिहार में बिजली गाँवों तक नहीं पहुँची है, अभी तक गाँवों तक पक्की सड़कें नहीं पहुँची है, शिक्षा की स्थिति काफी दयनीय, स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति भी अच्छी नहीं है, अच्छी शिक्षा और रोजगार के लिए युवा पलायन करने पर बाध्य हैं। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान के विकास के मूल में बिहार के युवाओं का पसीना है, बिहार के युवाओं ने देश को बनाया, लेकिन बिहार अभी भी विकास में काफी पीछे है। उन्होंने कहा कि श्री लालू यादव और श्री नीतीश कुमार फिर से छद्म रूप में कपडे बदल कर बिहार को जंगलराज के दौर में घसीटने के लिए आ गए हैं लेकिन जनता इस बार के चुनाव में इन्हें कड़ा सबक सिखाएगी।

श्री शाह ने कहा कि श्री नीतीश कुमार के शासनकाल में हमारे कार्यकर्ताओं के साथ अन्याय होता रहा लेकिन हम बिहार के विकास के लिए अपमान का घूँट पीकर रह गए क्योंकि हमारा लक्ष्य बिहार को जंगलराज से मुक्ति दिलाना था। उन्होंने कहा कि श्री नीतीश कुमार प्रधानमंत्री बनने की अति महत्त्वाकांक्षा में बिहार के जनादेश का अपमान करने से भी नहीं चूके और लगातार 20 वर्षों तक लालू के जंगलराज के विरोध की राजनीति करने के बावजूद केवल कुर्सी की खातिर जंगलराज, भ्रष्टाचार और कुशासन के प्रतीक उसी श्री लालू जी से हाथ मिला लिया। श्री शाह ने कहा कि नीतीश कुमार ने बिहार की जनता के पीठ में खंजर घोंप कर धोखा देने का काम किया है।

श्री शाह ने कहा कि श्री नीतीश कुमार और श्री लालू यादव ने जिस गैर-कांग्रेसवाद का सहारा लेकर देश की राजनीति में अपनी जगह बनाई, आज केवल सत्ता सुख के लिए उन्होंने कांग्रेस की गोद में बैठे हुए हैं। उन्होंने कहा कि श्री नीतीश कुमार और लालू जी ने श्री जयप्रकाश नारायण, कर्पूरी ठाकुर और राम मनोहर लोहिया के सिद्धांतों की तिलांजलि देकर उनके साथ भी धोखा किया है। उन्होंने कहा कि जब श्री नीतीश कुमार अपराध, भ्रष्टाचार और जंगलराज के प्रतीक श्री लालू यादव से हाथ मिला लेते हैं, जब वह केवल सत्ता प्राप्ति के उद्देश्य से 12 लाख करोड़ का घपला करनेवाली कांग्रेस से हाथ मिला लेते हैं, तो उनपर विकास का भरोसा कैसे किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि श्री नीतीश कुमार ने तो उन्हें राजनीति में आगे बढ़ाने वाले श्री जार्ज फर्नांडीज के साथ भी धोखा दिया, श्री मांझी को अलग - थलग किया। सत्ता के लिए किसी को छोड़ देना और किसी के साथ विश्वासघात करना नीतीश कुमार के लिए कोई नई बात नहीं, लेकिन बिहार की जनता सब समझती है और इस बार के विधान सभा चुनाव में श्री नीतीश कुमार को अपने इन कुकृत्यों का परिणाम भुगतना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा की संस्कृति ही विकास की रही है। उन्होंने कहा कि यह हमारी विकास की ही नीति है कि हम हर राज्यों में बारम्बार चुनकर आते हैं, चाहे वह गुजरात हो, या मध्य प्रदेश, राजस्थान, गोवा या फिर छत्तीसगढ़। उन्होंने कहा कि हमारा एक ही मकसद है - विकास के जरिये गरीबों, शोषितों और वंचितों का कल्याण करना।

उन्होंने कहा कि हम अगड़े पिछड़े की राजनीति नहीं करते। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि श्री नीतीश कुमार और लालू जी गरीब और पिछड़ों की बात की बात करते हैं जबकि आजादी के बाद के 68 सालों में से 60 सालों तक सत्ता में रहनेवाली कांग्रेस के शासनकाल में देश के 60 करोड़ लोगों के पास अपना एक अदद बैंक खाता तक नहीं था। उन्होंने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी के सत्ता में आने के 1 वर्ष में ही 15 करोड़ परिवारों के बैंक खाते खुल गए। श्री शाह ने कहा कि चाहे प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना हो, चाहे प्रधानमंत्री जीवन सुरक्षा बीमा योजना हो, या फिर छोटे-मोटे उद्यमियों की मदद के लिए श्री नरेन्द्र भाई मोदी जी द्वारा शुरू की गई मुद्रा बैंक योजना हो, हमारी सभी योजनाएं गरीबों के कल्याण के लिए समर्पित है। श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विकास के जरिये गरीबों की सेवा और उनके जीवन-स्तर में सुधार लाना हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है।

उन्होंने कहा कि लालू जी का समाजवाद और पिछड़े वर्ग का कल्याण अपने परिवार के कल्याण पर सिमट कर रह गया है। श्री शाह ने कहा कि बिहार में संशाधनों की कोई कमी नहीं है, लेकिन ये केवल कुर्सी की खातिर अगड़े-पिछड़े की राजनीति कर बिहार को विकास से मरहूम रखना चाहते हैं लेकिन हम प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में “सबका साथ, सबका विकास”की अवधारणा के साथ बिहार के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में बुनियादी ढांचों, रोजगारोन्मुखी शिक्षण संस्थाओं, अस्पताल एवं सड़कों के निर्माण के लिए तथा राज्य में उद्योग-धंधों के लिए जब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र भाई मोदी ने 1.65 लाख करोड़ रूपए के विशेष पैकेज की घोषणा की तो इन लोगों के पास प्रधानमंत्री जी को धन्यवाद देने के लिए दो शब्द तक नहीं थे।

उन्होंने कहा कि जनता का भरोसा कांग्रेस, राजद और जड़ (यू) पर से पूरी तरह से उठ गया है, आजादी के बाद से लेकर अबतक के शासनकाल में इन लोगों ने केवल जनता को ठगने का काम किया है। उन्होंने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि बिहार के विकास के लिए भाजपा के नेतृत्व में राजग की दो-तिहाई की बहुमत की सरकार बननी जरूरी है।

भाजपा अधयक्ष ने कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि यह चुनाव बिहार के विकास और राज्य के युवाओं के बेहतर भविष्य का चुनाव है तथा बिहार की जनता ने बदलाव का मन बना लिया है, इसलिए भाजपा के नेतृत्व में राज्य में दो तिहाई बहुमत से राजग की स्थिर और मजबूत सरकार बनाने के लिए एकजुट हो जाएं।

(इंजी. अरुण कुमार जैन)
कार्यालय सचिव

Doenload PDF