Salient Points of Public Rally in Katihar Bihar and Karyakartas Sammelan in Muzaffarpur Bihar

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह के बिहार के कटिहार की रैली और मुजफ्फरपुर के कार्यकर्ता सम्मलेन में दिए गए संबोधन के मुख्य अंश

श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश की सीमाएं सुरक्षित हैं और दुनिया में भारत और भारतीयों का मान-सम्मान बढ़ा है: अमित शाह
**********
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में गरीबों, शोषितों और वंचितों के कल्याण के लिए अनेकों लोक कल्याणकारी कार्यक्रम की शुरुआत की गई है: अमित शाह
**********
श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता गरीबों, शोषितों और वंचितों का कल्याण: अमित शाह
**********
बिहार में इस बार भाजपा के विकास की सुनामी आ रही है: अमित शाह
**********
श्री नीतीश कुमार के एक कंधे पर जंगलराज के प्रतीक श्री लालू जी हैं तो दूसरे कंधे पर 12 लाख करोड़ का घोटाला करनेवाली कांग्रेस: अमित शाह
**********
वैभव के शिखर पर रहनेवाला बिहार विकास के क्षेत्र में हासिये पर: अमित शाह
**********
श्री नीतीश कुमार ने न केवल भाजपा वरन पूरे राज्य की जनता के साथ विश्वासघात किया है: अमित शाह
**********
श्री नीतीश कुमार केवल मुखौटा मात्र हैं, उसके पीछे जंगलराज 2 है: अमित शाह
**********
भारतीय जनता पार्टी का विकास का ट्रैक रिकॉर्ड रहा है: अमित शाह
**********
बिहार का विकास प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में ही संभव है: अमित शाह
**********
सीमांचल का विकास हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है: अमित शाह
**********
भाजपा शुरू से ही आरक्षण की पक्षधर है और इसमें किसी भी प्रकार के बदलाव की कोई गुंजाइश नहीं है: अमित शाह
**********

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज बिहार के कटिहार की रैली और मुजफ्फरपुर के कार्यकर्ता सम्मलेन में विशाल जन-समुदाय को सम्बोधित किया और इस बार के बिहार विधान सभा चुनाव में जनता से राज्य में दो तिहाई की बहुमत से भाजपा की अगुआई में राजग सरकार बनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों में जहां राजद, जद (यू) और कांग्रेस के खिलाफ आक्रोश है वहीं भाजपा के लिए प्यार और आशीर्वाद और यह बिलकुल स्पष्ट है कि इस बार बिहार में भाजपा को प्रचंड बहुमत मिलने जा रहा है और श्री नरेन्द्र मोदी जी के अगुआई में बिहार में भाजपा-नीत राजग सरकार बनना तय है। उन्होंने कहा कि बिहार में इस बार भाजपा के विकास की सुनामी आ रही है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि एक समय था जब कश्मीर से कन्याकुमारी तक और असम से गुजरात तक, पूरे भारतवर्ष पर बिहार का शासन हुआ करता था, बिहार ने विश्व को अर्थशास्त्र, व्याकरण और संगीत का ज्ञान दिया है, बिहार महात्मा बुद्ध और महावीर की धरती है, यह चन्द्रगुप्त, समुद्रगुप्त और चाणक्य की धरती है, बिहार का देश की स्वतंत्रता की लड़ाई में अद्वितीय योगदान है, यह प्रदेश लोकनायक जयप्रकाश नारायण, डॉ राजेंद्र प्रसाद, बाबू जगजीवन राम, जननायक कर्पूरी ठाकुर इत्यादि महान नेताओं की कर्मभूमि रही है, लेकिन आज मुझे कष्ट होता है जब मैं वैभव के शिखर पर रहनेवाले बिहार को विकास के क्षेत्र में हासिये पर देखता हूँ। उन्होंने कहा कि अभी तक गाँवों में बिजली, सड़कें, शुद्ध पीने का पानी, अस्पताल, स्कूल जैसी बुनियादी सेवायें भी ठीक से नहीं पहुँच सकी है, उद्योग धंधे नहीं है, रोजगार का अभाव है, तकनीकी शिक्षा के साधन नहीं हैं और बिहार के युवाओं को दवाई, कमाई और पढ़ाई के लिए अपने परिवारों को छोड़कर राज्य से बाहर जाना पड़ता है, इससे ज्यादा विषमकारी परिस्थिति किसी भी राज्य के लिए क्या हो सकती है। श्री शाह ने कहा कि यदि राज्य की जनता श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की अगुआई में बिहार में राजग की सरकार चुनती है तो बिहार के युवाओं को दवाई, कमाई और पढ़ाई यहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि बिहार के युवाओं के परिश्रम और पसीने से हुआ देश समृद्ध हुआ लेकिन माँ गंगा की अहैतु कृपा के बावजूद बिहार विकास के मामले में इतना पीछे क्यों है?

श्री शाह ने श्री लालू यादव और श्री नीतीश कुमार के शासनकाल पर तंज करते हुए कहा कि इनके पिछले 25 वर्षों के शासन में बिहार काफी पीछे चला गया है। बिहार की जनता तो लालू के 15 साल के जंगलराज को याद कर आज भी सिहर उठती है। श्री लालू यादव पर निशाना साधते हुए श्री शाह ने कहा कि श्री लालू जी का विकास और समाजवाद, परिवारवाद पर सिमट कर रह गया है। श्री शाह ने कहा कि महागठबंधन ने बेटे बेटियों की सरकार चलाई, हमने हर जगह गरीबों और पिछड़ों के उत्थान की सरकार चलाई है। उन्होंने कहा कि श्री नीतीश कुमार को बिहार की जनता ने बिहार के विकास के लिए चुना था, लेकिन वह आज फिर विकासवाद के सिद्धांत पर चलनेवाली भाजपा का दामन छोड़कर जंगलराज के प्रतीक श्री लालू यादव से हाथ मिला लिया, उन्होंने ने न केवल भाजपा वरन पूरे राज्य की जनता के साथ विश्वासघात किया है। उन्होंने कहा कि इस बार बिहार का चुनाव बिहार के गौरव और बिहार के विकास के लिए लड़ा जाना है.

उन्होंने कहा कि श्री नीतीश कुमार कहते हैं, राज्य में विकास करेंगें, राज्य को आगे ले जाएंगे, मैं पूछना चाहता हूँ कि पिछले 25 वर्षों में आपने बिहार में विकास के लिए क्या किया, आपने बिहार की जनता से विश्वास का धोखा क्यों किया? उन्होंने जनता से पूछा कि क्यों अभी तक राज्य में बिनियादी सुविधाएं भी लोगों तक नहीं पहुँची? श्री शाह ने कहा कि श्री नीतीश कुमार के एक कंधे पर तो जंगलराज के प्रतीक श्री लालू जी हैं वहीं दूसरे कंधे पर 12 लाख करोड़ का घोटाला करनेवाली कांग्रेस है। उन्होंने कहा कि श्री नीतीश कुमार केवल मुखौटा मात्र हैं, उसके पीछे जंगलराज 2 है। उन्होंने कहा कि इससे ज्यादा हास्यास्पद और क्या हो सकता है कि वह फिर से आपसे एक और मौक़ा मांगने आ गए हैं। उन्होंने जनता से पूछा कि जो नीतीश कुमार, दलित के नहीं हुए, जो भाजपा के नहीं हुए, जो बिहार की जनता के नहीं हुए, वो बिहार का विकास कैसे करेंगें। श्री शान ने कहा कि श्री नीतीश कुमार की राजनीति ही धोखे की राजनीति रही है।

उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि आप एक बार श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा-नीत राजग सरकार को दो-तिहाई बहुमत देकर राज्य में आपकी सेवा का मौक़ा दीजिये, हम बिहार को देश का सर्वोत्तम राज्य बनाकर आपको समर्पित करेंगें।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इस विश्वास के पीछे भारतीय जनता पार्टी की सरकारों का विकास का ट्रैक रिकॉर्ड रहा है। उन्होंने कहा कि देश में जिस किसी भी राज्य में हमारी सरकारें हैं, हमने वहां विकास के नए आयाम स्थापित किये हैं। श्री शाह ने कहा कि बिहार का विकास प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में ही संभव है। श्री शाह ने कहा कि बिहार विकास में सबसे पीछे है और सीमांचल का इलाका राज्य में विकास में सबसे पीछे है। उन्होंने कहा कि राज्य में सरकार बनने के बाद सीमांचल का विकास हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता होगी।

श्री नीतीश कुमार पर सत्ता की राजनीति का आरोप लगाते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि श्री नीतीश कुमार ने लोकनायक जयप्रकाश नारायण के आंदोलन से देश की राजनीति में कदम रखा और कांग्रेस के विरोध की राजनीति कर वे देश की राजनीति में आगे बढ़े लेकिन कुर्सी की खातिर उनके सिद्धांतों की तिलांजलि देकर कांग्रेस से समझौता करने में कोई देर नहीं लगाई, नीतीश कुमार ने राज्य से श्री लालू यादव के जंगलराज के खात्मे को लेकर भाजपा से सहयोग लिया लेकिन फिर से केवल मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए श्री लालू यादव से हाथ मिला लिया, लोकसभा चुनावों में मिली करारी शिकश्त के बाद दलित को मुख्यधारा में लाने की बात कहकर श्री नीतीश कुमार ने श्री जीतन राम मांझी को राज्य की सत्ता सौंपी, लेकिन फिर उन्होंने दलित को अपमानित कर सत्ता से बेदखल कर दिया और खुद कुर्सी पर जा बैठे। श्री शाह ने कहा कि श्री नीतीश कुमार का अहंकार और सत्ता मोह इतना अधिक है कि इन्होंने राज्य की जनता के जनादेश के साथ धोखा करने से भी परहेज नहीं किया।

श्री शाह ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पछले लोक सभा चुनावों में जो-जो वादे किये थे, हमारी केंद्र सरकार ने सभी वादों को पूरा करने का काम किया है। उन्होंने कहा कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश की सीमाएं सुरक्षित है, दुनिया में भारतवर्ष का मान-सम्मान बढ़ा है, गरीबों, शोषितों और वंचितों के कल्याण के लिए अनेकों योजनाये शुरू की गई हैं, चाहे 1 साल में ही 15 करोड़ परिवारों का प्रधानमंत्री जन-धन सुरक्षा योजना के तहत बैंक खाता खोलना हो या 12 रुपये सालाना में जीवन सुरक्षा योजना हो या 330 रुपये सालाना में जीवन बीमा हो या छोटे मोटे रोजगार के लिए मुद्रा बैंक योजना के तहत बिना गारंटी के आसान ऋण उपलब्ध कराने की बात हो, हमारी सारी योजनाएं गरीबों के कल्याण के लिए ही समर्पित हैं और श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता गरीबों, शोषितों और वंचितों का कल्याण है।

राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए श्री शाह ने कहा कि राहुल गांधी सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से हो रही गोलीबारी को लेकर श्री मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहते हैं कि तब और अब में कोई फर्क नहीं पड़ा है। श्री शाह ने कहा, "राहुल जी बहुत फर्क पड़ा है। पहले सीमाओं पर गोलीबारी की शुरुआत पाकिस्तानी सेना करती थी और खत्म भी वही करती थी। आज शुरुआत पाकिस्तानी सेना करती है लेकिन खत्म करती है भारतीय सेना। आज गोली का जवाब गोले से दिया जाता है। राहुल जी को समझना चाहिए कि यह कितना बड़ा फर्क है।"

श्री शाह ने कहा कि विदेशों में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को सुनने के लिए हजारों का हुजूम लालायित रहता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का सम्मान, भाजपा का सम्मान नहीं वरन देश की 125 करोड़ हिन्दुस्तानी जनता का सम्मान है। उन्होंने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र संघ में हिन्दी में भाषण देकर विश्व में देश की राष्ट्रभाषा का मान बढ़ाने का काम किया है।

श्री शाह ने श्री नीतीश कुमार पर बिहार को दिए गए विशेष पैकेज पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी जी ने बिहार के विकास के लिए 1 वर्ष में ही 1.65 लाख करोड़ रुपये की राशि दी। उन्होंने श्री नीतीश कुमार से पूछा कि आप लोगों ने पिछले 25 वर्षों में बिहार के विकास के लिए कया किया।

श्री शाह ने महागठबंधन द्वारा आरक्षण पर भ्रामक प्रचार का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा शुरू से ही आरक्षण की पक्षधर है और इसमें किसी भी प्रकार के बदलाव की कोई गुंजाइश नहीं है।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने कार्यकर्ताओं से अपील की कि आप श्री नरेन्द्र मोदी के विकास का सन्देश लेकर जनता के बीच जाएँ और राज्य में राजग की सरकार बनाने के लिए एकजुट हो जाएं। उन्होंने लोगों से अपील की कि आपने सबको बारी बारी से मौक़ा दिया, एक बार श्री नरेन्द्र मोदी के विकासवाद पर वोट देकर राज्य में भाजपा की अगुआई में दो तिहाई की बहुमत देकर राजग की सरकार बनाइये, हम बिहार को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाकर इसके गौरव को पुनर्स्थापित करेंगें।

(इंजी अरुण कुमार जैन)
कार्यालय सचिव

Download PDF