Salient Points of Speech at Sitabdiara, Bihar on Birth Anniversary of Lok Nayak Jay Prakash Narayan

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा बिहार के छपरा के सिताब दियारा में लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम और दिनारा की रैली में दिए गए संबोधन के मुख्य अंश

लोकतंत्र के संरक्षक एवं ‘संपूर्ण क्रांति आंदोलन’ के जनक “लोकनायक जयप्रकाश नारायण” जी की जयंती पर उनको शत् शत् नमन: अमित शाह
*********
लोकनायक जयप्रकाश नारायण भारत में लोकतंत्र के सच्चे प्रहरी थे: अमित शाह
*********
लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने राजसत्ता पर लोकसत्ता की स्थापना के लिए जीवनपर्यन्त संघर्ष किया: अमित शाह
*********
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमें लोकनायक जयप्रकाश नारायण के सपनों का भारत बनाना है: अमित शाह
*********
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ही देश में एकता के प्रतीक सरदार पटेल और सम्पूर्ण क्रांति के सूत्रधार लोकनायक जयप्रकाश नारायण का स्मारक बनाने का फैसला लिया, कांग्रेस ने तो देश को एक परिवार तक सीमित कर देने की कोशिश की: अमित शाह
*********
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हम बिहार को देश का सर्वोत्तम प्रदेश बनायेंगें: अमित शाह
*********
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने लाख करोड़ रुपये का विशेष पैकेज श्री नीतीश कुमार और लालू जी के लिए नहीं, वरन बिहार में विकास की तस्वीर बदलने के लिए दिया है: अमित शाह
*********
भाजपा शुरू से ही आरक्षण की समर्थक रही है और वह इसमें कोई बदलाव नहीं होने देगी श्री नीतीश कुमार हमेशा से धोखा देने की राजनीति करते आये हैं: अमित शाह
*********

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज रविवार को बिहार के छपरा के सिताब दियारा में लोकनायक जयप्रकाश नारायण की 113वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित किया और लोगों से लोकनायक जयप्रकाश नारायण के सिद्धांतों पर चलने की अपील की। इस अवसर पर उन्होंने लोकनायक जयप्रकाश नारायण को श्रद्धांजलि देते हुए उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और श्रद्धा सुमन अर्पित किये।

अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है कि आज मैं लोकनायक की जयंती के शुभ अवसर पर सिताब दियारा के लाला टोला में उपस्थित हूँ। उन्होंने कहा कि मैं लोकतंत्र के संरक्षक एवं ‘संपूर्ण क्रांति आंदोलन’ के जनक “लोकनायक जयप्रकाश नारायण” जी की जयंती पर उनको शत् शत् नमन करता हूँ।

श्री शाह ने कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण भारत में लोकतंत्र के सच्चे प्रहरी थे जिन्होंने भारतवर्ष के ग्रामोद्धार के लिए अपना सम्पूर्ण जीवन अर्पित कर दिया था। उन्होंने कहा कि अगर जयप्रकाश जी ना होते तो भारत का लोकतंत्र आपातकाल के समय ही ख़त्म हो गया होता। उन्होंने कहा कि आज जो भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश होने का गौरव रखता है, यह केवल लोकनायक जयप्रकाश नारायण के कारण ही संभव हो पाया है।

श्री शाह ने कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण देश के स्वतंत्रता संग्राम में महती भूमिका निभाने वाले उन चंद महान व्यक्तित्वों में शामिल थे, जिन्होंने अपना सर्वस्व, राष्ट्र के नाम समर्पित कर दिया था, वो देश के लिए जिए, देश के लिए मरे पर कोई पद नहीं लिया, समाजसेवा के लिए देश पर मर मिटने वाले ऐसे विरले कम ही होते हैं।

श्री शाह ने कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने राजसत्ता पर लोकसत्ता की स्थापना के लिए जीवनपर्यन्त संघर्ष किया और अपना सम्पूर्ण जीवन दलगत राजनीति से ऊपर उठकर समाजसेवा के लिए समर्पित कर दिया। लोकनायक जयप्रकाश नारायण के समाजसेवा की विशिष्ट भूमिका को रेखांकित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि चाहे वह आचार्य विनोवा भावे के भूदान आंदोलन के जरिये समाज में सुधार लाने की बात हो या नागा शांति वार्ता को बातचीत के द्वार तक लाना हो या उत्तर प्रदेश के चम्बल की समस्या के समाधान की बात हो, उन्होंने अपने जीवन का हर पल देश और समाज की भलाई में लगा दिया।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जब देश में भ्रष्टाचार और अराजकता अपने चरम सीमा पर पहुँच गया तो देश की आम जनता को इससे मुक्ति दिलाने के लिए लोकनायक ने पूरे देश में अहिंसक छात्र आंदोलन का नेतृत्व किया और देश भर में भ्रष्टाचार, कुशासन और अराजकता के खिलाफ अलख जगाने का काम किया। श्री शाह ने कहा कि उन्होंने बिहार की धरती से 'सम्पूर्ण क्रांति' का आह्वान किया और देखते-ही-देखते यह आंदोलन पूरे देश भर में फ़ैल गया। श्री शाह ने कहा कि श्रीमती इंदिरा गांधी की तानाशाही शासन व्यवस्था इस आंदोलन से भयभीत हो गई और देश पर आपातकाल थोप दिया गया और फिर शुरू हुआ - नागरिक अधिकारों के हनन का काला दौर और आम जनता को प्रताड़ित करने का दमन चक्र। श्री शाह ने कहा कि आंदोलन के पहले ही दिन लोकनायक जयप्रकाश नारायण को गिरफ्तार कर जेल में दाल दिया गया और उन्हें इतना प्रताड़ित किया गया कि अंततः यही उनकी मृत्यु का कारण बना।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आखिरकार तानाशाही की हार हुई, लोकनायक जयप्रकाश नारायण के नेतृत्व में जनता के आवाज की जीत हुई, आपातकाल हटा और देश में फिर से लोकतंत्र बहाल हुआ। श्री शाह ने कहा कि सम्पूर्ण विपक्ष जनता पार्टी के रूप में एकजुट हुआ और पूरे देश ने भ्रष्टाचार, अराजकता और तानाशाही के खिलाफ अपना जनादेश दिया और देश की शासन व्यवस्था में परिवर्तन का सूत्रपात हुआ।

श्री शाह ने कहा कि दुर्भाग्य से लोकनायक जयप्रकाश नारायण की कल्पना, ग्रामोत्थान का उनका सपना और सम्पूर्ण क्रांति के सभी छह क्रांतियों को मूर्त रूप देने का जब समय आया तो वह हम हमारे बीच नहीं रहे।

श्री शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि इस देश को एक परिवार तक सीमित कर देने की कोशिश की गई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को कभी देश पर निःस्वार्थ रूप से अपना सर्वस्व न्यौछावर कर देनेवाले महान पुण्यात्माओं का स्मारक तक बनाने का ख़याल नहीं आया। उन्होंने कहा कि यह श्री नरेन्द्र मोदी हैं, जिन्होंने देश को एकता के सूत्र में पिरोने वाले सरदार पटेल का स्मारक बनाने की शुरुआत की और आज फिर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने लोकनायक जयप्रकाश नारायण का स्मारक बनाने का फैसला लिया है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जब लोकनायक के ग्रामोत्थान की उनकी परिकल्पना को याद करता हूँ तो उन्हीं के राज्य बिहार के गाँवों की दशा को देखकर मन क्षुब्ध हो उठता है। श्री शाह ने कहा कि क्या सत्ता के लिए कोई इतना बदल सकता है कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण, डॉ राममनोहर लोहिया और जननायक कर्पूरी ठाकुर के गैर-कांग्रेसवाद की राह पकड़ कर देश की राजनीति में आगे बढ़नेवाले लोगों को आज उनके सिद्धांतों की हत्या कर मात्र सत्ता-स्वार्थ के लिए कांग्रेस के साथ से भी परहेज नहीं?

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमें जेपी के सपनों का भारत बनाना है। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि हमें ग्रामोत्थान का ऐसा मॉडल खड़ा करना है जो आम जनता के जीवन स्तर को बदल सकें, सबका विकास हो सके और विश्व भी इस मॉडल से सीख ले सके।

श्री शाह ने लोगों से कहा कि आज लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती पर हम संकल्प लें हम जेपी के सिद्धांतों पर चलते हुए गाँव, गरीब, मजदूर और किसान की भलाई के लिए काम करें, उनके द्वारा दिखाए गए सम्पूर्ण क्रांति के रास्ते पर चलें और सत्ता के लिए कभी सिद्धांतों के साथ समझौता ना करें। भाजपा अध्यक्ष ने लोगों से लोकनायक जयप्रकाश के मंत्र को देश के कोने-कोने में फैलाने की अपील की।

बाद में भाजपा अध्यक्ष ने दिनारा में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने लोगों से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की अगुआई वाली दो-तिहाई की बहुमत से बिहार में राजग सरकार बनाने की अपील की।

श्री शाह ने कहा कि श्री नीतीश कुमार और श्री लालू यादव ने जिस गैर-कांग्रेसवाद का सहारा लेकर देश की राजनीति में अपनी जगह बनाई, आज केवल सत्ता सुख के लिए उन्होंने कांग्रेस की गोद में बैठे हुए हैं। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नीतीश के एक कंधे पर श्री लालू यादव का जंगलराज है और दूसरे कंधे पर कांग्रेस का 12 लाख करोड़ रूपए का भ्रष्टाचार है तो उनसे विकास की आशा कैसे की जा सकती जा सकती है?

भाजपा अध्यक्ष श्री अमित शाह ने महास्वार्थबंधन के नेताओं पर आरक्षण को लेकर अफवाह फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा शुरू से ही आरक्षण की समर्थक रही है और वह इसमें कोई बदलाव नहीं होने देगी।

श्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि लगातार 20 वर्षों तक लालू के जंगलराज के विरोध की राजनीति करने के बावजूद केवल कुर्सी की खातिर श्री नीतीश कुमार ने जंगलराज, भ्रष्टाचार और कुशासन के प्रतीक उसी श्री लालू जी से हाथ मिला लिया, कांग्रेस से हाथ मिलाकर उन्होंने लोकनायक जयप्रकाश नारायण, राममनोहर लोहिया और जननायक कर्पूरी ठाकुर के सिद्धांतों की बलि दे दी, जार्ज फर्नांडीज़ साहब को धोखा दिया, दलित के बेटे का अपमान किया और इतना ही नहीं, उन्होंने बिहार की जनता के जनादेश का भी अपमान किया। उन्होंने कहा कि श्री नीतीश कुमार हमेशा से धोखा देने की राजनीति करते आये हैं।

श्री शाह ने श्री नीतीश कुमार पर बिहार के विकास के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिए गए 1.65 लाख करोड़ रुपये के विशेष पैकेज के ऊपर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इस पैसे पर बिहार के युवा, बिहार के गाँवों और बिहार के किसानों का अधिकार है और श्री नीतीश कुमार को इसे नकारने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि यह पैकेज श्री नीतीश कुमार और लालू जी के लिए नहीं है, वरन प्रधानमंत्री ने यह विशेष पैकेज राज्य के विकास की तस्वीर बदलने के लिए दिया है।

श्री शाह ने कहा कि अगर बिहार में 24 घंटे बिजली चाहिए, बिहार में निवेश चाहिए, उद्योग और कारखाने चाहिए, महिलाओं को सुरक्षा और उनका सम्मान चाहिए, कानून व्यवस्था अच्छी होनी चाहिए, रोजगार के पर्याप्त अवसर बनने चाहिए, यदि राज्य को अपराध, भ्रष्टाचार और जंगलराज से मुक्ति चाहिए तो बिहार की जनता को एकमत से फैसला करके राज्य में दो-तिहाई की पूर्ण बहुमत से भाजपा-नीत सरकार बनानी होगी। उन्होंने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हम बिहार के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हम बिहार को देश का सर्वोत्तम प्रदेश बनायेंगें।

(इंजी. अरुण कुमार जैन)
कार्यालय सचिव

Download PDF