Salient Points of Speech By BJP National President, Shri Amit Shah Addressing The Concluding Session of Chunav Manch, India TV at Hotel Maurya, Patna

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा इंडिया टीवी के बिहार चुनाव मंच कार्यक्रम के समापन सत्र में दिए गए उद्बोधन के मुख्य अंश


श्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में बिहार के सर्वांगीण विकास के लिए हम कटिबद्ध हैं: अमित शाह
***********
बिहार के विकास के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा राज्य को दिए गए 1.65 हजार करोड़ रुपये का पैकेज, राज्य के विकास के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाती है: अमित शाह
***********
मुझे पूर्ण विश्वास है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में बिहार के समग्र विकास के लिए हम राज्य में दो-तिहाई बहुमत की सरकार बनायेंगें: अमित शाह
***********
हमारी राजनीति और परम्परा ही विकास की रही है: अमित शाह
***********
मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि इस बार बिहार चुनाव विकास के मुद्दे पर लड़े जाएंगें: अमित शाह
***********
हम बिहार में एक 'लोक-कल्याणकारी राज्य' की अवधारणा को स्थापित करने वाली सरकार लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं: अमित शाह
***********
बिहार में विकास की अपार सम्भावनाएँ हैं: अमित शाह
***********
राजद और जद (यू) का अलोकतांत्रिक गठबंधन केवल सत्ता प्राप्ति के उद्देश्य से किया गया एक पूर्णतः अनैतिक गठबंधन है: अमित शाह
***********

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज इंडिया टीवी के बिहार चुनाव मंच के समापन सत्र को सम्बोधित किया और कहा कि बिहार के सर्वांगीण विकास के लिए हम कटिबद्ध हैं।

श्री शाह ने कहा कि हम यूँ ही नहीं विकास की बात करते हैं, बल्कि हमने हर जगह, जहां भी हमारी सरकारें हैं, विकास करके दिखाया है और वहाँ जनता हमारी सरकार द्वारा चलाये जा रहे लोक कल्याणकारी कार्यक्रमों से संतुष्ट है तथा जनता का लगातार अपार जन-समर्थन हमें मिल रहा है। उन्हाेंने कहा कि इसी का परिणाम है कि हमें उन राज्यों में बार-बार जनादेश मिलता है चाहे वह गुजरात हो या मध्य प्रदेश, चाहे वह राजस्थान हो या छत्तीसगढ़ या फिर गोवा। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में हमने समान रूप से गरीबों, दलितों, शोषितों, पिछड़ों - समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिए काफी सराहनीय कार्य किया है। उन्होंने कहा कि हमारी राजनीति और परम्परा ही विकास की रही है। उन्होंने कहा कि मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि इस बार बिहार चुनाव विकास के मुद्दे पर लड़े जाएंगें।

उन्होंने कहा कि श्री मोदी जी ने बिहार के विकास के लिए, बिहार के गरीबों, दलितों, पिछड़ों और अति पिछड़ों के उत्थान के लिए, बिहार में सड़क, बिजली, उद्योग और रोजगार को बढ़ावा देने के लिए राज्य को 1.25 लाख करोड़ का पैकेज दिया जो पहले से चल रही योजनाओं के लिए दिए गए 40 हजार करोड़ रुपये के अतिरिक्त है, जो राज्य के विकास के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाती है। उन्होंने कहा कि फिर भी आप विरोध की राजनीति करते हैं, आपके पास बिहार के सम्मान की खातिर दिए गए पैकेज के लिए श्री नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद ज्ञापित करने के लिए दो शब्द भी नहीं है? उन्होंने कहा कि बिहार को एक ऐसे समर्पित सरकार की जरूरत है जो केंद्र से कंधे से कंधा मिलाकर बिहार के विकास के लिए सतत प्रयत्नशील रहे और हम बिहार में एक ऐसी 'लोक-कल्याणकारी राज्य' की अवधारणा को स्थापित करने वाली सरकार लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

श्री शाह ने कहा कि बिहार में विकास की अपार सम्भावनाएँ हैं चाहे वह पर्यटन का क्षेत्र हो, बिजली में सुधार की व्यापक जरूरत हो, औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने की बात हो या फिर शिक्षा और स्वास्थ्य की बात हो। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को जवाब देना चाहिए कि राजद और जद (यू) के 25 वर्षों के शासन के बावजूद बिहार में विकास की दयनीय स्थिति क्यों है? उन्होंने कहा कि जब तक भाजपा बिहार में सरकार में साथ रही, बिहार का विकास काफी तेज गति से होता रहा, लेकिन भाजपा के सरकार से निकलते ही विकास कार्यों पर रोक लग गयी, अपराध का ग्राफ बढ़ा है, विकास रुका है, जीडीपी में गिरावट आई है और क़ानून व्यवस्था चरमराई है। उन्होंने कहा कि श्री नीतीश कुमार ने बिहार के लोगों के जनादेश के साथ विश्वासघात किया है। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता सब समझती है और वह इन लोगों के झांसे में अब और आने वाली नहीं है। उन्होंने कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में बिहार के समग्र विकास के लिए राजग राज्य में दो-तिहाई बहुमत की सरकार बनायेगी।

राजद और जद (यू) के अलोकतांत्रिक गठबंधन पर करारा प्रहार करते हुए श्री शाह ने कहा कि यह केवल सत्ता प्राप्ति के उद्देश्य से किया गया एक पूर्णतः अनैतिक गठबंधन है। उन्होंने कहा कि यह श्री नीतीश कुमार थे जिन्होंने जनता को श्री लालू प्रसाद यादव के जंगलराज से मुक्ति का नारा दिया था। उन्होंने कहा कि इस स्थिति में जबकि उन्होंने भ्रष्टाचार और जंगलराज के प्रतीक श्री लालू यादव से हाथ मिला लिया, श्री नीतीश कुमार कैसे जनता को विकास का भरोसा दे सकते हैं?

आरक्षण के मुद्दे पर बोलते हुए श्री शाह ने कहा कि अपनी स्थापना और पूर्व में जनसंघ के समय से ही भारतीय जनता पार्टी दलितों, आदिवासियों, पिछड़ों और अति पिछड़ों के आरक्षण के पक्ष में रही है। इन वर्गों के विकास के लिए भाजपा वर्तमान संवैधानिक आरक्षण व्यवस्था का पूर्णतः समर्थन करती है। भाजपा वर्तमान आरक्षण नीति के संवैधानिक पुनर्विचार के पक्ष में नहीं है।

उन्होंने बिहार की जनता से अपील करते हुए कहा कि आपने लालू जी को 15 वर्ष दिए, कांग्रेस को भी आपने एक लम्बा समय दिया, आपने नीतीश जी को भी देखा - अब भाजपा को भी एक मौका दीजिये और मैं आप सभी को विश्वास दिलाता हूँ कि केवल पाँच वर्षों में हम बिहार को देश के अग्रणी राज्यों की पंक्ति में लाकर खड़ा कर देंगें।

(इंजीनियर अरुण कुमार जैन)
कार्यालय सचिव

Download PDF