Salient Points of Speech by Sh Amit Shah Addressing Youth Town Hall at babu Banarasi Das University, Lucknow (UP)

Saturday, 19 November 2016


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा लखनऊ (उत्तर प्रदेश) में योजित टाउनहॉल कार्यक्रम में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु


सपा, बसपा और कांग्रेस उत्तर प्रदेश का विकास नहीं कर सकती, उनके पास विकास का विजन ही नहीं है, इम्प्लीमेंटेशन की दृढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति नहीं है: अमित शाह
*********
सपा, बसपा और कांग्रेस परिवारवाद और जातिवाद की पॉलिटिक्स करने वाली पार्टियां हैं, हम विकास की पॉलिटिक्स करने वाली पार्टी हैं: अमित शाह
*********
केंद्र की श्री नरेन्द्र मोदी सरकार एक ऐसी सरकार है जो रिफॉर्म्स नहीं ट्रांसफॉर्मेशन में यकीन रखती है। जनता को अब सुधार नहीं बल्कि आमूल-चूल परिवर्तन चाहिए और परिवर्तन करने का काम केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार कर रही है: अमित शाह
*********
युवा ही इतिहास गढ़ता है, युवा ही परिवर्तन का कारण बनता है और देश को आगे बढ़ाने का काम भी युवा ही करता है, इसलिए यूपी के युवा प्रदेश के विकास के लिए राज्य में परिवर्तन का शंखनाद करें और प्रदेश में विकासोन्मुखी व लोक-कल्याणकारी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने का मार्ग प्रशस्त करें: अमित शाह
*********
हम जवाबदेही और परफॉरमेंस को अपने लोकतंत्र का अमिट हिस्सा बनाना चाहते हैं और इसलिए‘यूपी के मन की बात’ लेकर राज्य की जनता के बीच आये हैं: अमित शाह
*********
जब सर्जिकल स्ट्राइक हुई और अंदर घुसकर देश के दुश्मनों को मौत के घाट उतारा गया तब मालूम पड़ा कि दृढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति और सेना के शौर्य का मिलन जब होता है तो देश अभेद्य दुर्ग बन जाता है: अमित शाह
*********
हमारी सीमा को कोई छू भी नहीं सकता, यह पहली बार भारत की जनता ने अहसास किया है: अमित शाह
*********
पहले हाय-तौबा मची थी कि काले धन पर मोदी जी क्या कर रहे हैं, अब हाय-तौबा मची है कि काले धन पर फैसला वापस ले लो: अमित शाह
*********
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार काले-धन के मामले में किसी को भी नहीं बख्शेगी: अमित शाह
*********
यूपीए सरकार बनने के बाद सोनिया-मनमोहन सरकार का पहला फैसला था - आतंकवादियों के खिलाफ ‘पोटा’ के क़ानून को रद्द करना और मोदी सरकार की कैबिनेट का पहला फैसला था - काले-धन की जांच के लिए एसआईटी का निर्माण करना: अमित शाह
*********
जिन लोगों ने अपनी इनकम डिसक्लोज नहीं की, 8 नवंबर के बाद सरकार के एक ही फैसले से उनका काला धन कागज की रद्दी में तब्दील हो गया है, भ्रष्टाचार और अवैध तरीके से काला-धन अर्जित करने वाले लोगों के चेहरे से नूर उतर गया है: अमित शाह
*********
हमें अपने लोकतंत्र को जातिवाद और परिवारवाद से ऊपर उठाना होगा: अमित शाह
*********
कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन होगा, यह सबको पता है लेकिन भारतीय जनता पार्टी का अगला अध्यक्ष कौन होगा, यह किसी को पता नहीं है: अमित शाह
*********
जातिवाद और परिवारवाद की राजनीति ने जवाबदेही और परफॉरमेंस के महत्त्व को कम कर दिया है, भारतीय जनता पार्टी चाहती है कि देश एक बार फिर से पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंस की दिशा में आगे बढ़े: अमित शाह
*********
मोदी सरकार के इन ढ़ाई वर्षों में भारत दुनिया की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बनी है, सर्वस्पर्शीय व सर्वसमावेशक विकास के कंसेप्ट के आधार पर लोगों के लिए फैसले लिए जा रहे हैं और देश को आगे ले जाने के लिए बेहतरीन इनिशिएटिव लिए जा रहे हैं: अमित शाह
*********
मोदी सरकार ने विकास के लिए अनेकों इनिशिएटिव उठाए हैं, हर 15 दिन में गाँव, गरीब, किसान, गरीब, दलित, महिला व पिछड़ों के लिए एक नई योजना शुरू की है लेकिन यूपी में ये योजनायें नीचे तक नहीं पहुँच पाई है क्योंकि राज्य की सरकार इन योजनाओं का फायदा जनता तक पहुँचने देना ही नहीं चाहती: अमित शाह
*********
प्रधानमंत्री फसल बीमा का फायदा अभी तक यूपी के किसानों को नहीं मिल पाया है क्योंकि राज्य की अखिलेश सरकार प्रीमियम भरने की एजेंसी ही तय नहीं कर पाई। मोदी सरकार ने उत्तर प्रदेश को हर साल 1 लाख करोड़ रुपया अधिक दिया लेकिन यूपी की सपा सरकार राज्य के विकास का रास्ता रोककर बैठी है: अमित शाह
*********

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह आज लखनऊ (उत्तर प्रदेश) में ‘यूपी के मन की बात' कार्यक्रम के तहत आयोजित टाउनहॉल कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के युवाओं से रू-ब-रू हुए और यूपी के विकास के लिए राज्य के युवाओं से भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने की अपील की।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हमारे साथ अस्तित्त्व में आने वाले कई देशों में डेमोक्रेसी लड़खड़ा-सी गई है लेकिन आजादी के इन 70 सालों में हमारा लोकतंत्र मजबूत हुआ है और देश के अंतिम व्यक्ति तक पहुँचने में सफल हुआ है लेकिन एक जिम्मेदार नागरिक के नाते हम सोचें तो पता चलेगा कि इसमें कई सुधार होने बांकी हैं। उन्होंने कहा कि हम सबको, खासकर युवाओं को यह तय करना पड़ेगा कि वह किस तरह का देश बनाना चाहते हैं और देश को किस दिशा में आगे लेकर जाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि 70 वर्षों बाद जब हम विश्लेषण करते हैं तो पाते हैं कि हमारा लोकतंत्र जातिवाद और परिवारवाद से ग्रसित हुआ है, हमें अपने लोकतंत्र को जातिवाद और परिवारवाद से ऊपर उठाना होगा। उन्होंने कहा कि कई पार्टियां परिवार की पार्टियां बन गई हैं, वहां पहले ही तय हो जाता है कि पार्टी का अगला अध्यक्ष कौन होगा। कांग्रेस का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन होगा, यह सबको पता है लेकिन भारतीय जनता पार्टी का अगला अध्यक्ष कौन होगा, यह किसी को पता नहीं है। उन्होंने कहा कि जातिवाद और परिवारवाद की राजनीति ने जवाबदेही और परफॉरमेंस के महत्त्व को कम कर दिया है, भारतीय जनता पार्टी चाहती है कि देश एक बार फिर से पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंस की दिशा में आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि हम जवाबदेही और परफॉरमेंस को अपने लोकतंत्र का अमिट हिस्सा बनाना चाहते हैं और इसलिए‘यूपी के मन की बात’ लेकर राज्य की जनता के बीच आये हैं।

श्री शाह ने कहा कि हम जब उत्तर प्रदेश के विकास का एजेंडा लेकर आपके पास आयें तो उसमें राज्य की जनता की सभी आकांक्षाएँ शामिल होनी चाहिए, इसके लिए जरूरी है कि हम आपकी आकांक्षाओं को जानें, समझें और आपसे इस पर संवाद करें, इस आधार पर हम भारतीय जनता पार्टी का उत्तर प्रदेश का चुनावी एजेंडा बनाना चाहते हैं ताकि अगले 5 वर्षों तक हम यूपी में पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉर्मेंस का आईडिया आगे बढ़ाएं। उन्होंने कहा कि ‘यूपी के मन की बात' के अंदर लगभग 15 हजार से अभी अधिक सुझाव पेटियां पूरे उत्तर प्रदेश से लोगों के सुझावों को एकत्रित करने का काम करेगी, वीडियो रथ भी भेजे जायेंगें और सीधे राज्य के किसानों, युवाओं, महिलाओं और गरीबों के साथ संवाद स्थापित किया जाएगा। उन्होंने राज्य के युवाओं को संबोधित करते हुए कहा, “मैं मानता हूँ कि आपकी सहभागिता के बिना यह प्रयोग सफल नहीं हो सकता, अगर एक बार यह प्रयोग सफल हो गया तो सभी पार्टियों को यह प्रयोग करना होगा, सीधा संवाद स्थापित करके लोगों की अपेक्षाओं को जानना पड़ेगा और जब वह ऐसा करने में सफल होंगें, तभी उन्हें वोट मिल पायेगा।”

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जहां एक ओर भाजपा शासित राज्य विकास की नई कहानी लिख रहे हैं, वहीं तमाम प्राकृतिक संसाधनों के बावजूद उत्तर प्रदेश में जितना विकास होना चाहिए था, उतना नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि हमने सर्वस्पर्शी और सर्वसमावेशक विकास करके दिखाया है। उन्होंने कहा कि आज रिफॉर्म्स की बातें हो रही हैं, हम रिफॉर्म्स के आगे की सोचते हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र की श्री नरेन्द्र मोदी सरकार एक ऐसी सरकार है जो रिफॉर्म्स नहीं ट्रांसफॉर्मेशन में यकीन रखती है। उन्होंने कहा कि जनता को अब सुधार नहीं बल्कि आमूल-चूल परिवर्तन चाहिए और परिवर्तन करने का काम केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार कर रही है, इतना ही नहीं, निर्णयों में, सोच में एवं कार्यसंस्कृति में परिवर्तन के जरिये एक सामूहिक सोच बनाने का काम भी केंद्र सरकार कर रही है।

श्री शाह ने कहा कि 2014 के लोक सभा चुनाव में श्री नरेन्द्र मोदी देश की आकांक्षा के प्रतीक बन कर उभरे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के इन ढ़ाई वर्षों में भारत दुनिया की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बनी है, सर्वस्पर्शीय व सर्वसमावेशक विकास के कंसेप्ट के आधार पर लोगों के लिए फैसले लिए जा रहे हैं और देश को आगे ले जाने के लिए बेहतरीन इनिशिएटिव लिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सोनिया-मनमोहन सरकार के समय देश के दुश्मन देश की सीमाओं पर भाई हेमराज का सिर काट कर ले जाते थे, हमारे जवानों को अपमानित करते थे लेकिन दिल्ली में बैठे हुक्मरानों के माथे पर जूं तक नहीं रेंगती थी। उरी में हमारे कई वीर जवानों को कायरतापूर्ण हमले में शहीद कर दिया गया, पूरा देश हतप्रभ था, सदमें में था, जब सर्जिकल स्ट्राइक हुई और अंदर घुसकर देश के दुश्मनों को मौत के घाट उतारा गया तब मालूम पड़ा कि दृढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति और सेना के शौर्य का मिलन जब होता है तो देश अभेद्य दुर्ग बन जाता है। उन्होंने कहा कि हमारी सीमा को कोई छू भी नहीं सकता, यह पहली बार भारत की जनता ने अहसास किया है।

काले-धन पर चर्चा करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पहले हाय-तौबा मची थी कि काले धन पर मोदी जी क्या कर रहे हैं, अब हाय-तौबा मची है कि काले धन पर फैसला वापस ले लो। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार काले धन के मामले में किसी को भी नहीं बख्शेगी। सोनिया-मनमोहन व मोदी सरकार के बीच एक उदाहरण के जरिये बुनियादी अंतर स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार बनने के बाद सोनिया-मनमोहन सरकार का पहला फैसला था - आतंकवादियों के खिलाफ ‘पोटा’ के क़ानून को रद्द करना और मोदी सरकार की कैबिनेट का पहला फैसला था - काले-धन की जांच के लिए एसआईटी का निर्माण करना। उन्होंने कहा कि हमने काले-धन की जांच एसआईटी को सौंपा, फिर ओपन डिस्क्लोजर स्कीम लेकर आये जिससे 65 हजार करोड़ से ज्यादा रकम की टैक्स के रूप में रिकवरी हुई, जिन लोगों ने अपनी इनकम डिसक्लोज नहीं की, 8 नवंबर के बाद सरकार के एक ही फैसले से उनका काला धन कागज की रद्दी में तब्दील हो गया है, भ्रष्टाचार और अवैध तरीके से काला-धन अर्जित करने वाले लोगों के चेहरे से नूर उतर गया है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के करोड़ों के काले-धन पर इस देश के युवाओं का अधिकार है। उन्होंने कहा कि हमें मालूम है कि देश की जनता को तकलीफ हो रही है लेकिन देश से भ्रष्टाचार, आतंकवाद, फेक करेंसी और जाली नोटों के कारोबार को ख़त्म करने के लिए यह ऑपरेशन जरूरी है।

श्री शाह ने कहा कि हमें भारत को दुनिया का सबसे विकसित राष्ट्र बनाना है, भारत को दुनिया के अग्रिम देशों की पंक्ति में शामिल कराना है। उन्होंने कहा कि हमें एक ऐसा भारत बनाना है जिसकी सेना सबसे आधुनिक और ताकतवर हो, हम एक ऐसा भारत बनाना है जहां आरएंडडी के इतने क्लस्टर बनें कि युवा ग्लोबल पेटेंट हासिल कर भारत को समृद्धि के पथ पर अग्रसर कर सकें। उन्होंने कहा कि हम एक ऐसा भारत बनाना चाहते हैं जहां हर गाँव बिजली हो, शुद्ध पीने का पानी हो, पक्की सड़के हों और समुचित शिक्षा व स्वास्थ्य व्यवस्थाएं हों।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस उत्तर प्रदेश का विकास नहीं कर सकती, उनके पास विकास का विजन ही नहीं है, इम्प्लीमेंटेशन की दृढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति नहीं है। उन्होंने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस परिवारवाद और जातिवाद की पॉलिटिक्स करने वाली पार्टियां हैं, हम विकास की पॉलिटिक्स करने वाली पार्टी हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने विकास के लिए अनेकों इनिशिएटिव उठाए हैं, हर 15 दिन में गाँव, गरीब, किसान, गरीब, दलित, महिला व पिछड़ों के लिए एक नई योजना शुरू की है लेकिन यूपी में ये योजनायें नीचे तक नहीं पहुँच पाई है क्योंकि राज्य की सरकार इन योजनाओं का फायदा जनता तक पहुँचने देना ही नहीं चाहती, यहाँ तक कि प्रधानमंत्री फसल बीमा का फायदा अभी तक यूपी के किसानों को नहीं मिल पाया है क्योंकि राज्य की अखिलेश सरकार प्रीमियम भरने की एजेंसी ही तय नहीं कर पाई। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने उत्तर प्रदेश को हर साल 1 लाख करोड़ रुपया अधिक दिया लेकिन यूपी की सपा सरकार राज्य के विकास का रास्ता रोककर बैठी है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की ओर से राज्य के युवाओं का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा कि युवा ही इतिहास गढ़ता है, युवा ही परिवर्तन का कारण बनता है और देश को आगे बढ़ाने का काम भी युवा ही करता है, इसलिए यूपी के युवा प्रदेश के विकास के लिए राज्य में परिवर्तन का शंखनाद करें और प्रदेश में विकासोन्मुखी व लोक-कल्याणकारी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने का मार्ग प्रशस्त करें।

Download PDF (English)

Download PDF (Hindi)