Salient Points of Speech in Public Meetings at Bihiya, Maner, Barh and Raghopur Bihar

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा बिहार के बिहिया, मनेर, बाढ़ और राघोपुर में दिए गए संबोधन के मुख्य अंश

श्री नीतीश कुमार और लालू यादव मोदीफोबिया से ग्रस्त हैं: अमित शाह
*************
जब बिहार में जनता की रक्षा करनेवाले पुलिस अधिकारी ही सुरक्षित नहीं हैं तो लालू-नीतीश की जोड़ी राज्य के जनता की सुरक्षा की गारंटी कैसे दे सकती है: अमित शाह
*************
जंगलराज और भ्रष्टाचार के साथ बिहार का विकास कतई संभव नहीं है: अमित शाह
*************
बिहार में एक ऐसी लोक-कल्याणकारी सरकार की जरूरत है जो श्री नरेन्द्र भाई मोदी के साथ कंधे-से-कंधा मिलाकर बिहार के गरीबों एवं पिछड़े वर्ग के कल्याण के लिए काम कर सके: अमित शाह
*************
महागठबंधन के नेता बिहार चुनाव में विकास को एजेंडा नहीं बनने देना चाहते जबकि हम चाहते हैं कि बिहार चुनाव विकास के मुद्दे पर लड़े जाएँ: अमित शाह
*************
कांग्रेस की संगति में रहते हुए श्री नीतीश कुमार का चश्मा भी इटालियन हो गया है और उनके देखने का नजरिया बदल गया है: अमित शाह
*************
पिछले 25 वर्षों में विकास के क्षेत्र में देश कहाँ-का-कहाँ पहुँच गया परन्तु बिहार वहीं- का-वहीं रह गया: अमित शाह
*************
महागठबंधन केवल और केवल सत्ता प्राप्ति के उद्देश्य से किया गया स्वार्थ बंधन है: अमित शाह
*************
भाजपा हमेशा से आरक्षण की पक्षधर रही है और मौजूदा आरक्षण व्यवस्था में किसी प्रकार के परिवर्तन की कोई गुंजाइश नहीं है: अमित शाह
*************

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज शुक्रवार को बिहार के बिहिया, मनेर, बाढ़ और राघोपुर की रैली में विशाल जन-समुदाय को सम्बोधित किया और इस बार के बिहार विधान सभा चुनाव में जनता से राज्य में दो तिहाई की बहुमत से भाजपा की अगुआई में राजग सरकार बनाने की अपील की।

प्रधानमंत्री की बिहार में चुनाव सभाओं पर बोलते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि श्री नीतीश कुमार और लालू यादव मोदीफोबिया से ग्रस्त हैं। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता ने अपना भरपूर प्यार और आशीर्वाद देकर 30 वर्ष पश्चात पूर्ण बहुमत देकर श्री नरेन्द्र भाई मोदी को भारत के प्रधानमंत्री पद पर बिठाया है और आज भी राज्य की जनता में श्री नरेन्द्र मोदी के प्रति प्यार और सम्मान है और वह उनके स्वागत के लिए हमेशा तैयार रहती है, महागठबंधन के नेताओं को उनके बारे में चिंतित होने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी बिहार में पहले से भी ज्यादा सभाओं को संबोधित करने वाले हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि दुनिया में सभी क्रांतिकारी परिवर्तन युवा शक्ति के द्वारा संभव हुआ है और इस बार बिहार की तरुणाई भी राज्य में परिवर्तन के लिए तैयार है। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि पहले दो चरणों की ही तरह आने वाले तीनों चरणों के चुनाव में भी आप बिहार में विकास के लिए मतदान करें।

श्री शाह ने कहा कि किसी भी राज्य के विकास के लिए 25 वर्ष का समय पर्याप्त होता है। उन्होंने कहा कि पिछले 25 वर्षों में विकास के क्षेत्र में देश कहाँ का कहाँ पहुँच गया परन्तु बिहार वहीं का वहीं रह गया। बिहार में अभी भी गाँवों तक बिजली नहीं पहुँची है, पक्की सड़कें नहीं पहुँची है, लोगों को शुद्ध पीने का पानी उपलब्ध नहीं है, किसान अपने फसलों की खरीद नहीं हो पाने की समस्याओं से परेशान हैं, अस्पतालों में बुनियादी सेवाओं की सुविधा तक नहीं है, विद्यालयों में न तो कमरे हैं और न ही शिक्षक, युवा आज भी कमाई, पढ़ाई और दवाई के लिए बिहार से बाहर जाने को विवश है।

भाजपा अध्यक्ष ने श्री लालू यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि लालू जी की बातें तो समझ में ही नहीं आती, वह बिहार के विकास की बात करने के बजाय, बिहार में रोजगार, बिजली, सड़क, महिलाओं की सुरक्षा आदि की बात करने के बजाय उलूल-जुलूल बोलते रहते हैं। श्री शाह ने कहा कि महागठबंधन के नेता बिहार चुनाव में विकास को एजेंडा नहीं बनने देना चाहते जबकि हम चाहते हैं कि बिहार चुनाव विकास के मुद्दे पर लड़े जाएँ।

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री बनते ही श्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार में बुनियादी ढाँचे के विकास के लिए और राज्य में विकास की रफ़्तार तेज करने के उद्देश्य से कई योजनाएं बनाई, उनके क्रियान्वयन की रूपरेखा तैयार की और उसके लिए 1.65 लाख करोड़ रुपये की राशि का प्रावधान भी किया। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बिहार के विकास के लिए विशेष पैकेज पर प्रधानमंत्री जी को धन्यवाद देना तो दूर, श्री नीतीश कुमार ने तो यहां तक कह दिया कि हमें पैकेज की जरूरत नहीं है, बिहार को किसी की मदद की जरूरत नहीं है, बिहार अपने आप खड़ा हो जाएगा। श्री शाह ने नीतीश कुमार पर तंज करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जी, आप किसी मुगालते में मत रहिये, यह विशेष पैकेज बिहार के युवाओं, किसानों, पिछड़ों, दलितों और महिलाओं के विकास के लिए है, इससे बिहार में उद्योग-कारखाने लगेंगें, राज्य में निवेश आएगा और बिहार विकास के पथ पर अग्रसर होगा, इसलिए आपको इसे नकारने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि देश की तिजोरी पर बिहार के युवाओं, किसानों और महिलाओं का अधिकार है और हम उनके विकास के लिए उनका अधिकार विनम्रतापूर्वक उन्हें लौटाने आये हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि यदि श्री नीतीश कुमार और लालू जी साथ आते हैं तो बिहार फिर से जंगलराज के दौर में पहुँच जाएगा और विकास की दौड़ में काफी पीछे पड़ जाएगा। उन्होंने कहा कि महागठबंधन केवल और केवल सत्ता प्राप्ति के उद्देश्य से किया गया स्वार्थ का बंधन है।

लालू जी के 15 साल के जंगलराज पर निशाना साधते हुए श्री शाह ने कहा कि बिहार की जनता आज भी जंगलराज को याद करके सिहर उठती है, उनकी रूह काँप जाती है। उन्होंने कहा कि पिछले 25 वर्षों में बिहार में पिछड़ों, दलितों, महादलितों और गरीबों पर सबसे ज्यादा अत्याचार किये गए और महागठबंधन के नेता गरीबों और पिछड़ों के विकास की बात करते हैं! भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि श्री नीतीश कुमार के एक कंधे पर जहाँ जंगलराज के प्रतीक सही लालू यादव हैं तो वही दूसरे कंधे पर 12 लाख करोड़ का घपला करनेवाली भ्रष्टाचार की प्रतीक कांग्रेस, तो बिहार का विकास कैसे संभव है? उन्होंने कहा कि जंगलराज और भ्रष्टाचार के साथ बिहार का विकास कतई संभव नहीं है।

राज्य में दो पुलिस अधिकारियों पर हुए हमले को लेकर महागठबंधन पर करारा प्रहार करते हुए श्री शाह ने कहा कि बिहार में जंगलराज एक बार फिर से दस्तक देने लगा है। उन्होंने कहा कि जब बिहार में जनता की रक्षा करनेवाले पुलिस अधिकारी ही सुरक्षित नहीं हैं तो वर्तमान सरकार राज्य के जनता की सुरक्षा की गारंटी कैसे दे सकती है? उन्होंने कहा कि महागठबंधन राज्य में विकास नहीं होने देना चाहती। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की संगति में रहते हुए श्री नीतीश कुमार का चश्मा भी इटालियन हो गया है और उनके देखने का नजरिया बदल गया है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में एक ऐसी लोक-कल्याणकारी सरकार की जरूरत है जो राज्य को विकास के पथ पर आगे ले जाए, श्री नरेन्द्र मोदी के हाथों को मजबूत करे और गरीबों एवं पिछड़े वर्ग के कल्याण के लिए काम कर सके।

श्री शाह ने महागठबंधन के नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि ये राज्य की विकास की बात तो करते नहीं, उलटे हर दिन एक नए झूठ का शिगूफा छोड़ देते हैं। उन्होंने श्री लालू यादव और श्री नीतीश कुमार पर आरक्षण के ऊपर भाजपा के खिलाफ दुष्प्रचार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि महागठबंधन आरक्षण के मुद्दे पर राज्य की जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा हमेशा से आरक्षण की पक्षधर रही है और मौजूदा आरक्षण व्यवस्था में किसी प्रकार के परिवर्तन की कोई गुंजाइश नहीं है।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने बिहार की जनता का आह्वान करते हुए कहा कि आपने राज्य में 35 साल कांग्रेस को मौक़ा दिया और 25 वर्षों तक श्री लालू यादव और श्री नीतीश कुमार को शासन का अधिकार दिया, लेकिन बिहार में विकास नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि मैं आपसे बिहार के विकास के लिए भाजपा को मात्र पांच साल देने का निवेदन करने आया हूँ। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि आने वाले चरणों के चुनाव में जाति-पाति की राजनीति से ऊपर उठकर बिहार के विकास के लिए, गरीबों, पिछड़ों, दलितों एवं शोषितों के कल्याण के लिए मतदान कीजिये और भाजपा की अगुआई में दो-तिहाई बहुमत की राजग की लोक-कल्याणकारी सरकार बनाने का मार्ग प्रशस्त कीजिए।


(इंजी. अरुण कुमार जैन)
कार्यालय सचिव

Download PDF