Salient Points of Speech in Public Meetings at Harlakhi, Benipatti, Basopatti, Benipur and Jale, Bihar

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा बिहार के हरलाखी, बेनीपट्टी, बासोपट्टी, बेनीपुर और जाले की रैली में दिए गए संबोधन के मुख्य अंश

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र भाई मोदी द्वारा बिहार के विकास के लिए दिए गए विशेष पैकेज पर बिहार के युवाओं, गरीबों, किसानों और महिलाओं का अधिकार है और हम उन्हें विनम्रतापूर्वक उनका हक़ देने आये हैं: अमित शाह
*************
राज्य का विकास नीतीश-लालू की जोड़ी कतई नहीं कर सकती, यह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के दिशा-निर्देशन में भाजपा की अगुआई वाली राजग सरकार ही कर सकती है: अमित शाह
*************
नीतीश, लालू और राहुल को यह जवाब देना चाहिए कि वह अल्पसंख्यकों को 9% आरक्षण, दलितों-महादलितों के आरक्षण के हिस्से से काटकर देंगें या फिर राज्य के पिछड़ों-अतिपिछड़ों के वर्तमान आरक्षण में कटौती करेंगें: अमित शाह
*************
नीतीश कुमार कहा करते थे कि कोई भी मंत्री या नेता भ्रष्टाचार करते पकड़ा जाएगा तो उनकी संपत्ति जब्त करके नीलाम कर दी जाएगी, लालू जी तो जेल भी हो आये फिर क्यों उनकी संपत्ति जब्त कर नीलाम नहीं की जाती: अमित शाह
*************
नीतीश के मंत्री और विधायक सरेआम बिहार का सौदा करते पकड़े जा रहे हैं, आखिर नीतीश कुमार चुप क्यों हैं: अमित शाह
*************
उखाड़ फेंकिए ऐसे महास्वार्थबंधन को जो बिहार में जंगलराज लाना चाहती है और भाजपा की अगुआई में राजग की सरकार का मार्ग प्रशस्त कीजिये जो राज्य में विकास लाना चाहती है: अमित शाह
*************
नीतीश और लालू अगड़ी जाति बनाम पिछड़ी जाति की राजनीति करने में लगे हुए हैं जबकि भाजपा अगड़ा बिहार बनाम पिछड़ा बिहार की राजनीति करने में यकीन रखती है: अमित शाह
*************
बिहार से नीतीश सरकार का जाना तय है: अमित शाह
*************
यह चुनाव बिहार के विकास और राज्य के जनता की भलाई के लिए सत्ता परिवर्तन का चुनाव है: अमित शाह
*************
यदि गलती से भी राज्य में नीतीश-लालू की जोड़ी सत्ता में आती है तो बिहार में जंगलराज-2 आ जाएगा: अमित शाह
*************
हमें बिहार के युवाओं के सपने का बिहार बनाना चाहते हैं और ऐसा बिहार केवल भाजपा ही बना सकती है: अमित शाह
*************
यह बिहार की जनता को तय करना है कि उन्हें बिहार में विकासराज चाहिए या आतंकराज: अमित शाह
*************
प्रधानमंत्री बनने की महत्त्वाकांक्षा में नीतीश कुमार ने भाजपा के साथ ही नहीं, बल्कि राज्य की जनता के जनादेश के साथ विश्वासघात किया है: अमित शाह
*************

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज शुक्रवार को बिहार के हरलाखी, बेनीपट्टी, बासोपट्टी, बेनीपुर और जाले की रैली को सम्बोधित किया और राज्य की जनता से बिहार से जंगलराज और भ्रष्टाचार का खात्मा कर राज्य में दो-तिहाई की बहुमत से भाजपा की अगुआई में राजग सरकार बनाने की अपील की।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बिहार से नीतीश सरकार का जाना तय है। उन्होंने कहा कि मैंने बिहार के युवाओं में परिवर्तन का भाव देखा है और उनकी आँखों में राज्य की वर्तमान शासन व्यवस्था के प्रति आक्रोश देखा है। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता अब विकास चाहती है और यह चुनाव बिहार के विकास और राज्य के जनता की भलाई के लिए सत्ता परिवर्तन का चुनाव है।

भाजपा अध्यक्ष श्री शाह ने कहा कि नीतीश कुमार और लालू यादव अपने सामने हार को देखकर निरुत्तर हो गए हैं और अब झूठ का सहारा लेने लगे हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी शुरू से ही वर्तमान आरक्षण व्यवस्था की पक्षधर रही है और वह इस पर किसी भी प्रकार के बदलाव के पक्ष में नहीं है। उन्होंने नीतीश, लालू और कांग्रेस पर बिहार के दलितों, महादलितों, पिछड़ों और अतिपिछड़ों को भारतीय संविधान द्वारा दिए गए आरक्षण में कटौती करने के षड़यंत्र का आरोप लगाते हुए कहा कि महागठबंधन के नेता राज्य के शोषितों और वंचितों का हक़ मारना चाहती है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार, लालू यादव और राहुल गांधी को राज्य की जनता को यह जवाब देना चाहिए कि वह अल्पसंख्यकों को 9% आरक्षण दलितों-महादलितों के आरक्षण के हिस्से से काटकर देंगें या फिर राज्य के पिछड़ों-अतिपिछड़ों के वर्तमान आरक्षण में कमी करेंगें।

भ्रष्टाचार पर दोहरा रवैय्या अपनाने का आरोप लगाते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा, "नीतीश कुमार कहा करते थे कि राज्य में भ्रष्टाचार में लिप्त जो भी नेता, मंत्री या विधायक पकड़ा जाएगा उसकी संपत्ति को जब्त कर उसकी नीलामी की जाएगी। लालू जी तो जेल भी हो आये, अदालत ने तो उन्हें अपराधी भी सिद्ध कर दिया है, फिर क्यों उनकी संपत्ति जब्त कर नीलाम नहीं की जाती? नीतीश के मंत्री और विधायक सरेआम बिहार का सौदा करते पकड़े जा रहे हैं, क्यों नीतीश कुमार उनकी सम्पत्तियों को जब्त नहीं करते? आखिर नीतीश कुमार चुप क्यों हैं?" उन्होंने जनता को आगाह करते हुए कहा कि नीतीश कुमार तो केवल मुखौटा हैं, उनके पीछे तो लालू यादव का जंगलराज है। उन्होंने कहा कि यदि गलती से भी राज्य में नीतीश-लालू की जोड़ी सत्ता में आती है तो बिहार में जंगलराज-2 आ जाएगा। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में आतंकराज फिर से दस्तक देने लगा है। उन्होंने कहा कि राज्य में लालू-नीतीश के गठबंधन से सबसे ज्यादा खुशी शहाबुद्दीन जैसे अपराधी लोगों को होगी। उन्होंने कहा कि यह बिहार की जनता को तय करना है कि उन्हें बिहार में विकासराज चाहिए या आतंकराज। श्री शाह ने कहा कि नीतीश कुमार के एक कंधे पर जंगलराज के प्रतीक लालू यादव हैं तो उनके दूसरे कंधे पर 12 लाख करोड़ रुपये का कांग्रेस का भ्रष्टाचार है, ऐसे में नीतीश कुमार बिहार में विकास के दावे कैसे कर सकते हैं?

भाजपा अध्यक्ष ने मिथिलांचल की जनता को जंगलराज की याद दिलाते हुए कहा कि लालू यादव के 15 सालों के उस वीभत्स जंगलराज के दंश को लोग अभी तक भूले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि हमारे अनेकों कार्यकर्ताओं ने जंगलराज के खिलाफ लोगों के अधिकारों की रक्षा के लिए सड़कों पर संघर्ष किया, लाठियां खाई, प्रताड़नाएं झेली और बिहार से जंगलराज्य के खात्मे के लिए श्री नीतीश कुमार से गठबंधन किया और उन्हें राज्य का मुख्यमंत्री बनाया। उन्होंने कहा कि जनता ने जंगलराज के खिलाफ ही हमें जनादेश दिया था लेकिन प्रधानमंत्री बनने की महत्त्वाकांक्षा में नीतीश कुमार ने भाजपा के साथ ही नहीं, बल्कि राज्य की जनता के जनादेश के साथ विश्वासघात किया है। उन्होंने कहा कि चौबे जी गए थे छब्बे बनने, दूबे बनकर आ गये। उन्होंने जनता का आह्वान करते हुए कहा कि उखाड़ फेंकिए ऐसे महास्वार्थबंधन को जो बिहार में जंगलराज लाना चाहती है और भाजपा की अगुआई में राजग की सरकार का मार्ग प्रशस्त कीजिये जो राज्य में विकास लाना चाहती है। नीतीश कुमार पर कटाक्ष करते हुए भाजपा अध्यक्ष श्री शाह ने कहा कि लगातार 20 वर्षों तक नीतीश कुमार लालू जी के जंगलराज का विरोध करते रहे लेकिन किसी भी तरह से राज्य की सत्ता पर काबिज रहने के लिए आज वह लालू जी के गोद में जा बैठे हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने लालू यादव और नीतीश कुमार पर समाज को बाँटने का आरोप लगाते हुए कहा कि ये लोग अगड़ी जाति बनाम पिछड़ी जाति की राजनीति करने में लगे हुए हैं जबकि भाजपा अगड़ा बिहार बनाम पिछड़ा बिहार की राजनीति करने में यकीन रखती है। उन्होंने कहा कि यह बिहार की जनता को यह तय करना है कि उन्हें अगड़ा बिहार चाहिए या पिछड़ा बिहार? उन्होंने कहा कि यदि बिहार की जनता को अगड़ा बिहार चाहिए तो प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र भाई मोदी के हाथों को मजबूत करना होगा।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पिछले 25 वर्षों से लालू-नीतीश की बड़े भाई-छोटे भाई की जोड़ी ने बिहार को लूटने का काम किया है। उन्होंने कहा कि इन 25 वर्षों में देश विकास में कहाँ-से-कहाँ पहुँच गया लेकिन बिहार अभी भी विकास के लिए संघर्ष कर रहा है, अभी भी गाँवों तक पक्के सड़कें नहीं पहुँची है, बिजली की व्यवस्था बदहाल है, रोजगार नहीं है, आज भी बिहार के युवाओं को दवाई, कमाई और पढ़ाई के लिए राज्य से बाहर पलायन करने को विवश हैं। उन्होंने बिहार की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य का विकास नीतीश-लालू की जोड़ी कतई नहीं कर सकती, यह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के दिशा-निर्देशन में भाजपा की अगुआई वाली राजग सरकार ही कर सकती है।

श्री शाह ने बिहार में चौतरफा विकास की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि पिछले लोक सभा चुनाव के दौरान ही श्री नरेन्द्र भाई मोदी जी ने कहा था कि बिहार के विकास के बिना देश का विकास संभव नहीं है और इसीलिये प्रधानमंत्री बनने के 15 महीनों के भीतर ही उन्होंने बिहार में बुनियादी ढाँचे के विकास के लिए और राज्य के गरीबों, दलितों, महादलितों, पिछड़ों, अति-पिछड़ों के कल्याण के लिए अनेकों योजनाएं बनाई एवं इसके लिए 1.65 लाख करोड़ रुपये की राशि का निर्धारण किया। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इस पैकेज पर बिहार के युवाओं, गरीबों, किसानों और महिलाओं का अधिकार है और हम विनम्रतापूर्वक उन्हें उनका हक़ देने आये हैं। श्री शाह ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि नीतीश कुमार के आँखों पर अहंकार का चश्मा लग गया है। उन्होंने कहा कि हम बिहार के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि लालू यादव तो हमेशा से ही बेसिरपैर की बातें करते हैं। उन्होंने जनता से पूछा कि कला कौआ और काला कबूतर काटने से, सिन्दूर का धुआं करने से बिहार का विकास होगा क्या? उन्होंने कहा कि लालू यादव के इन उलूल-जुलूल बातों को रोकने का साहस नीतीश कुमार में है ही नहीं। श्री शाह ने लालू के गौ-मांस वाले बयान पर उन्हें आड़े हाथों लेते हुए कहा कि लालू जी तो गौ-मांस और बकरे के मांस में कोई अंतर ही नहीं करते। उन्होंने कहा कि लालू जी को पता नहीं है कि भारत में लोग गाय को माता की संज्ञा देते हैं और उनकी पूजा करते हैं। उन्होंने कहा कि ये शब्द गौ-पालक के नहीं हो सकते, बुरी संगति में रहने पर ऐसे विचारों की ही आशा की जा सकती है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बिहार के पास प्राकृतिक संसाधनों की कोई कमी नहीं है। उन्होंने कहा कि देश के विकास में बिहार के युवाओं की मेहनत और उनके पसीने की खुशबू है जबकि बिहार का मेहनतकश युवा बिहार के विकास में अपना योगदान नहीं दे सका। श्री शाह ने कहा कि हमें बिहार के युवाओं के सपने का बिहार बनाना चाहते हैं और ऐसा बिहार केवल भाजपा ही बना सकती है।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने जनता से अपील करते हुए कहा कि आने वाले चरणों में आप भारी मात्रा में राजग के पक्ष के मतदान कीजिये और राज्य में भाजपा की अगुआई में एक लोक-कल्याणकारी शासन व्यवस्था की नींव डालिए।

(इंजी. अरुण कुमार जैन)
कार्यालय सचिव


Download PDF