Salient Points of Speech in Public Meetings at Siswa, Valmiki Nagar, Bagaha, Narkatiaganj and Raxaul, Bihar

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा बिहार के सिसवा, वाल्मीकि नगर, बगहा, नरकटियागंज और रक्सौल की रैली एवं मधुबनी में बुद्धिजीवी वर्ग के सम्मलेन में दिए गए संबोधन के मुख्य अंश

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा ‘अगड़ा बिहार बनाम पिछड़ा बिहार’ की राजनीति करना चाहती है जबकि नीतीश और लालू ‘अगड़ी जाति बनाम पिछड़ी जाति’ की राजनीति करने में यकीन रखती है: अमित शाह
************
नीतीश, लालू और कांग्रेस राज्य के अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षण दलितों और महादलितों के हिस्से से निकाल कर देंगे या फिर मौजूदा आरक्षण में पिछड़ों या अतिपिछड़ों की हिस्सेदारी कम करेंगें: अमित शाह
************
भाजपा दलितों-महादलितों और पिछड़ों-अतिपिछड़ों के वर्तमान आरक्षण व्यवस्था में हिस्सेदारी कम करने के किसी भी षड्यंत्र को कामयाब नहीं होने देगी: अमित शाह
************
पिछले 25 वर्षों से लालू-नीतीश द्वारा आतंक और माफियाराज का खेल खेला जा रहा है, अगड़ों-पिछड़ों के बीच वैमनस्यता के बीज बोये जा रहे हैं और समाज को बाँटने की साजिश की जा रही है: अमित शाह
************
बिहार की जनता को यह तय करना है कि उन्हें बिहार में विकासराज चाहिए या आतंकराज: अमित शाह
************
नीतीश कुमार बिहार का विकास होते नहीं देखना चाहते, इसलिए वह इस विशेष पैकेज पर राजनीति करने से बाज नहीं आ रहे: अमित शाह
************
नीतीश कुमार के आँखों पर अहंकार का चश्मा लग गया है और वह आत्ममुग्धता के शिकार हो गए हैं: अमित शाह
************
बिहार की जनता अब लालू-नीतीश के बहकावे में आने वाली नहीं है और वह इस चुनाव में उन्हें करारा जवाब देगी: अमित शाह
************
नीतीश जी, आप किसी मुगालते में मत रहिये, बिहार का ही कोई व्यक्ति बिहार का मुख्यमंत्री बनेगा लेकिन वह भाजपा से होगा: अमित शाह
************

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज मंगलवार को बिहार के सिसवा (जीरादेई), वाल्मीकि नगर, बगहा, नरकटियागंज और रक्सौल की रैली एवं टाउनहॉल ग्राउंड, मधुबनी में बुद्धिजीवी वर्ग के एक सम्मलेन को सम्बोधित किया और राज्य की जनता से बिहार में दो तिहाई की बहुमत से भाजपा की अगुआई में राजग सरकार बनाने की अपील की।

श्री शाह ने कहा कि नीतीश-लालू अपनी निश्चित पराजय से हतोत्साहित हो गए हैं और वह हर दिन एक नए झूठ का सहारा ले रहे हैं। आरक्षण के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि भाजपा तो हमेशा से ही मौजूदा आरक्षण व्यवस्था की पक्षधर रही है और वह इस पर किसी भी प्रकार के बदलाव के पक्ष में नहीं है, जबकि नीतीश-लालू और कांग्रेस की तिकड़ी राज्य के दलितों, महादलितों, पिछड़ों और अति-पिछड़ों को बाबासाहब आम्बेडकर के सिद्धांतों के अनुरूप संविधान द्वारा दिए गए आरक्षण के अधिकार में से कटौती कर उन्हें दूसरे लोगों को देने की फिराक में हैं जो अब स्पष्ट हो चुका है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार, लालू यादव और राहुल गांधी को राज्य की जनता को यह जवाब देना चाहिए कि वह अल्पसंख्यकों को दलितों-महादलितों के आरक्षण के हिस्से से काटकर आरक्षण देंगें या फिर राज्य के पिछड़ों-अतिपिछड़ों के वर्तमान आरक्षण में कटौती करेंगें। उन्होंने कहा कि भाजपा इस तरह के किसी भी षड्यंत्र को कामयाब नहीं होने देगी।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में पिछले 25 वर्षों से आतंक और माफियाराज का खेल खेला जा रहा है, अगड़े-पिछड़े के बीच वैमनस्यता के बीज बोये जा रहे हैं और समाज को बाँटने की साजिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में भी लालू यादव और नीतीश कुमार द्वारा अगड़े-पिछड़े के नाम पर अपनी-अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकी जा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा अगड़ा बिहार बनाम पिछड़ा बिहार की राजनीति करना चाहती है जबकि नीतीश और लालू अगड़ी जाति बनाम पिछड़ी जाति की राजनीति करने में यकीन रखती है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में फिर से आतंक का राज लाने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में लालू-नीतीश के गठबंधन से सबसे ज्यादा खुशी शहाबुद्दीन जैसे अपराधी लोगों को होने वाली है। उन्होंने कहा कि यह बिहार की जनता को तय करना है कि उन्हें बिहार में विकासराज चाहिए या आतंकराज। उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आपने लगातार 60 सालों तक कांग्रेस, लालू जी और नीतीश कुमार को मौक़ा दिया ही, फिर भी बिहार विकास के दौर में देश के कई राज्यों से काफी पीछे है। उन्होंने कहा कि आप बस एक बार पाँच वर्षों के लिए बिहार में भाजपा की अगुआई में राजग को मौक़ा दीजिये, हम बिहार को देश का एक अग्रणी लोक-कल्याणकारी राज्य बनाकर आपको समर्पित करेंगें जो समाज के हर-वर्ग के सर्वांगीण विकास के लिए कटिबद्ध होगा।

उन्होंने बिहार की जनता को सावधान करते हुए कहा कि नीतीश-लालू को बिहार के विकास में कोई रूचि नहीं है, वह बस बिहार की सत्ता पर किसी भी तरह काबिज होना चाहती है। उन्होंने कहा कि अगर गलती से भी लालू-नीतीश की बड़े भाई-छोटे भाई की जोड़ी बिहार की सत्ता में वापस में आती है तो पाकिस्तान में आतिशबाजी होगी बिहार में फिर से आतंकराज आ जाएगा।

श्री शाह ने बिहार में राज्य के सर्वांगीण विकास की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि पिछले लोक सभा चुनाव के दौरान ही हमारे प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी और वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र भाई मोदी जी ने कहा था कि देश के पूर्वी राज्यों के विकास को देश के पश्चिमी राज्यों के समकक्ष करना पड़ेगा, उन्होंने कहा था कि बिहार के विकास के बिना देश आगे नहीं बढ़ सकता है और इसीलिये प्रधानमंत्री बनने के एक-सवा एक साल के भीतर ही श्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार में बुनियादी ढाँचागत विकास के लिए और राज्य के गरीबों, दलितों, महादलितों, पिछड़ों, अति-पिछड़ों के कल्याण के लिए अनेकों योजनाएं बनाई और इसके लिए 1.65 लाख करोड़ रुपये के बड़े बजट का प्रावधान किया। उन्होंने बिहार के विकास के पैकेज पर राजनीति करने के लिए नीतीश कुमार को आड़े हाथों लेते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नीतीश कुमार बिहार का विकास होते नहीं देखना चाहते, इसलिए वह इस विशेष पैकेज पर राजनीति करने से बाज नहीं आ रहे। उन्होंने कहा कि यह पैकेज बिहार के युवाओं, गरीबों और किसानों का अधिकार है और हम विनम्रतापूर्वक उन्हें उनका हक़ देने आये हैं जिससे अब तक लालू-नीतीश ने उन्हें महरूम रखा था। श्री शाह ने नीतीश कुमार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि नीतीश कुमार के आँखों पर अहंकार का चश्मा लग गया है और वह आत्ममुग्धता के शिकार हो गए हैं। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार खुद को बिहार समझने की भूल कर बैठे हैं। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता अब लालू-नीतीश के बहकावे में आने वाली नहीं है और वह इस चुनाव में उन्हें करारा जवाब देगी।

भाजपा अध्यक्ष श्री शाह ने ‘बिहारी बनाम बाहरी’ मुद्दे पर नीतीश और लालू पर पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा के पास बिहार के तेजस्वी और कार्यकुशल नेताओं की श्रृंखला है। उन्होंने कहा कि नीतीश जी, आप किसी मुगालते में मत रहिये, कोई बिहार का ही कोई व्यक्ति बिहार का मुख्यमंत्री बनेगा लेकिन वह भाजपा से होगा।

लालू यादव पर तंज करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि वह विकास और राज्य के लोगों के कल्याण के सिवाय हर तरह की उलूल-जुलूल बातें करते हैं और नीतीश कुमार में उनको रोकने का कोई साहस नहीं है, क्योंकि नीतीश कुमार को पता है कि जैसे ही उन्होंने लालू यादव को रोकने की कोशिश की, वैसे ही उनकी कुर्सी गई। श्री शाह ने लालू यादव के गौ-मांस वाले बयान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अगर राज्य में गलती से भी लालू-नीतीश की जोड़ी सकरार में आई तो शराब की तरह ही हर जगह गौ-मांस की दुकानें खोल दी जाएगी। श्री शाह ने कहा कि लालू और नीतीश को हमारी संस्कृति और परम्परा में यकीन ही नहीं है और वह इसका कभी सम्मान नहीं करते। नीतीश कुमार निशाना साधते हुए श्री शाह ने कहा कि लगातार 20 वर्षों तक जो नीतीश कुमार लालू के जंगलराज को कोसते थकते नहीं थे, जिस जंगलराज के विरोध की राजनीति कर वह जनादेश लेने में कामयाब रहे, वही नीतीश कुमार अपनी कुर्सी जाते देखते ही लालू की गोद में जाकर बैठ गये। उन्होंने कहा कि अवसरवादिता का इससे बड़ा उदाहरण नहीं हो सकता।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने जनता से अपील करते हुए कहा कि पिछले तीन चरणों के मतदान की ही तरह चौथे और पाँचवें चरण में भाजपा और राजग के पक्ष में भारी मतदान करके राज्य में भाजपा की अगुआई में दो-तिहाई बहुमत की राजग सरकार बनाइए और विकासवाद के सिद्धांत को अपनाते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के हाथों को मजबूत कीजिए।

(इंजी. अरुण कुमार जैन)
कार्यालय सचिव

Download PDF