Salient points of the speech of BJP National President Shri Amit Shah during public meetings at Kangpokpi and Moirang (Bishnupur) in Manipur.

Tuesday, 28 February 2017


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा इंफाल, मणिपुर में किये गए प्रेस कांफ्रेंस के मुख्य बिंदु


मैं विश्वास के साथ कहना चाहता हूँ कि 2017 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी मणिपुर में स्पष्ट बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है, असम के बाद मणिपुर पूर्वोत्तर का ऐसा दूसरा राज्य होगा जहां भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी: अमित शाह
*********
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी दो दिन पहले मणिपुर आये थे और उन्होंने दो टूक शब्दों में यह स्पष्ट कर दिया था कि मणिपुर की टेरिटोरियल पर 1 इंच भी अतिक्रमण नहीं होने दिया जाएगा, इसकी संस्कृति और हेरिटेज को भी इन्टेक्ट रखा जाएगा, उसका पूरा सम्मान किया जाएगा: अमित शाह
*********
यदि झूठा प्रचार कर के इबोबी सिंह सरकार यह सोचती है कि वह मणिपुर की जनता की आँखों में धूल झोंकने में सफल हो जायेगी तो मैं मानता हूँ कि ऐसा संभव नहीं हो सकता: अमित शाह
*********
भारतीय जनता पार्टी का स्पष्ट रूप से मानना है कि जब तक पूर्वोत्तर के राज्यों का विकास नहीं हो जाता, तब तक देश का सम्पूर्ण विकास नहीं हो सकता। केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने उत्तर-पूर्व के राज्यों और मणिपुर के विकास के लिए बहुत सारे काम किये हैं: अमित शाह
*********
15 सालों से इबोबी सिंह केवल और केवल डेवलपमेंट के प्रॉमिस ही करते रहे, अचीवमेंट के रूप में वे कोई भी काम लेकर मणिपुर की जनता के सामने नहीं जा सकते: अमित शाह
*********
आज विज्ञापन के माध्यम से इबोबी सिंह ने फिर से कुछ प्रॉमिस किया है लेकिन यदि इसे गौर से देखा जाय ये सारे प्रॉमिस इबोबी सिंह ने 2012 के विधानसभा चुनाव के दौरान भी मणिपुर की जनता से किया था, दो-तीन योजनायें तो केंद्र सरकार की हैं जो पहले से ही चल रही हैं: अमित शाह
*********
इसका स्पष्ट मतलब यह है कि कांग्रेस की इबोबी सिंह सरकार ने 2012 से 2017 के दौरान पांच वर्षों में मणिपुर के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया: अमित शाह
*********
पॉलिटिकल कारणों से ही मणिपुर की कांग्रेस सरकार ब्लॉकेज को क्लियर नहीं करा रही है। मैं मणिपुर की जनता को कहना चाहता हूँ कि जिस दिन मणिपुर में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी, 24 घंटे के भीतर ही राज्य से ब्लॉकेज को समाप्त कर दिया जाएगा: अमित शाह
*********
मैं कहना चाहता हूँ कि यदि मणिपुर में भाजपा की सरकार बनती है तो वह सरकार भ्रष्टाचार विहीन और पारदर्शी सरकार होगी, वह सरकार मणिपुर को बंद से मुक्ति दिलायेगी, भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलायेगी, ब्लॉकेज से मुक्ति दिलायेगी और अंडरग्राउंड ग्रुप्स से भी मुक्ति दिलायेगी: अमित शाह
*********
15 साल तक कांग्रेस सरकार के बावजूद यदि आज भी मणिपुर में लोगों को शुद्ध पीने का पानी नहीं मिल रहा, बेरोजगारी की समस्याओं से दो-चार होना पड़ रहा है, लॉ एंड आर्डर की स्थिति ठीक नहीं है तो इसके लिए केवल इबोबी सिंह की कांग्रेस सरकार जिम्मेदार है: अमित शाह
*********
100 से ज्यादा योजनायें जो विगत 15 सालों से भारत सरकार के फंड से मणिपुर में चली हैं, उनमें से किसी भी योजना का वर्क कंप्लीशन सर्टिफ़िकेट भी सबमिट नहीं किया गया है, यूटिलाइजेशन सर्टिफ़िकेट भी सबमिट नहीं किया गया है: अमित शाह
*********
यदि मणिपुर में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनती है तो भ्रष्टाचार के सभी मामलों की जांच करके दोषियों पर कठोर कार्रवाई की जायेगी और उन्हें सजा दी जायेगी: अमित शाह
*********

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज मणिपुर की राजधानी इंफाल में आयोजित एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया और मणिपुर की बदहाली के लिए इबोबी सिंह की कांग्रेस सरकार पर जमकर प्रहार किया। इससे पहले उन्होंने मणिपुर में दो विशाल जन-सभाओं को संबोधित किया और राज्य की जनता से मणिपुर में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने की अपील की।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का स्पष्ट रूप से मानना है कि जब तक पूर्वोत्तर के राज्यों का विकास नहीं हो जाता, तब तक देश का सम्पूर्ण विकास नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 2014 के लोक सभा चुनाव के वक्त ही यह स्पष्ट कर दिया था कि जब तक देश के पूर्वोत्तर राज्यों का विकास नहीं हो जाता, तब तक देश का विकास संतुलित नहीं माना जा सकता। उन्होंने कहा कि केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने उत्तर-पूर्व और मणिपुर के विकास के लिए बहुत सारे काम किये हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने मणिपुर के लिए स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी मंजूर की लेकिन कांग्रेस की इबोबी सिंह सरकार ने यूनिवर्सिटी के लिए जो जमीन एलॉट की, वहां पर यूनिवर्सिटी बन ही नहीं सकती, जैसे ही मणिपुर सरकार सही जमीन एलॉट करेगी, यूनिवर्सिटी का काम शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने आईआईटी के लिए 10 करोड़ रुपये से अधिक की राशि मणिपुर की कांग्रेस सरकार को दी है जिसमें से वह डेढ़ करोड़ रुपये भी खर्च नहीं कर पाई है। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त फिल्म एंड टीवी इंस्टिट्यूट और एयरपोर्ट के आधुनिकीकरण का प्रोजेक्ट भी शुरू किया है, साथ ही लगभग 22000 करोड़ रुपये की लागत से 6 सड़क परियोजनाओं पर भी काम शुरू किया है, राज्य में रेलवे के प्रोजेक्ट्स पर भी तेज गति से काम चल रहा है, मुझे विश्वास है कि अगले दो साल में इंफाल तक रेलवे पहुंचाने में भारतीय रेल सफल हो जायेगी।

श्री शाह ने कहा कि इस बार के मणिपुर विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की इबोबी सिंह सरकार के पास डेवलपमेंट का कोई मुद्दा नहीं बचा है, 15 सालों से इबोबी सिंह केवल और केवल डेवलपमेंट के प्रॉमिस ही करते रहे, अचीवमेंट के रूप में वे कोई भी काम लेकर मणिपुर के जनता के सामने नहीं जा सकते। उन्होंने इबोबी सिंह सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आज विज्ञापन के माध्यम से इबोबी सिंह ने फिर से कुछ प्रॉमिस किया है लेकिन यदि इसे गौर से देखा जाय ये सारे प्रॉमिस इबोबी सिंह ने 2012 के विधानसभा चुनाव के दौरान भी मणिपुर की जनता से किया था, बाकी दो-तीन योजनायें तो केंद्र सरकार की हैं जो पहले से ही चल रही हैं। इबोबी सिंह के कुछ प्रॉमिसेज का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि इबोबी सिंह का एक प्रॉमिस है ड्रिंकिंग वाटर टू ऑल हाउसहोल्ड का जो उनके 2012 के घोषणापत्र में भी था और 2017 के घोषणापत्र में भी है, डेवलपमेंट ऑफ स्पोर्ट्स इंफ्रास्ट्रक्चर एट ग्रासरूट लेवल का प्रॉमिस भी 2012 का है, टूरिज्म का विकास और उसको स्पेशल थ्रस्ट देने का वादा भी इबोबी सिंह के 2012 के घोषणापत्र का हिस्सा है, इसी तरह से एंपावरमेंट ऑफ वुमन टू कैपेसिटी बिल्डिंग के प्रॉमिस को भी 2017 में दोहराया गया है। उन्होंने कहा कि इसका स्पष्ट मतलब यह है कि कांग्रेस की इबोबी सिंह सरकार ने 2012 से 2017 के दौरान पांच वर्षों में मणिपुर के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया। उन्होंने कहा कि डेवलपमेंट और करप्शन के बारे में इबोबी सिंह की कांग्रेस सरकार के पास कोई जवाब नहीं है इसलिए वे गैर-विषयों को चुनाव का मुद्दा बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं कहना चाहता हूँ कि यदि मणिपुर में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनती है तो वह सरकार भ्रष्टाचार विहीन और पारदर्शी सरकार होगी, वह सरकार मणिपुर को बंद से मुक्ति दिलायेगी, भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलायेगी, ब्लॉकेज से मुक्ति दिलायेगी और राज्य को अंडरग्राउंड ग्रुप्स से भी मुक्ति दिलाने का काम करेगी।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नागा एकॉर्ड के बारे में भी कई बार भारतीय जनता पार्टी की ओर से स्पष्टीकरण दिया जा चुका है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी दो दिन पहले मणिपुर आये थे और उन्होंने दो टूक शब्दों में यह स्पष्ट कर दिया था कि मणिपुर की टेरिटोरियल पर 1 इंच भी अतिक्रमण नहीं होने दिया जाएगा, मणिपुर की संस्कृति और हेरिटेज को भी इन्टेक्ट रखा जाएगा, उसका पूरा सम्मान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि झूठा प्रचार कर के इबोबी सिंह की कांग्रेस सरकार यह सोचती है कि वह मणिपुर की जनता की आँखों में धूल झोंकने में सफल हो जायेगी तो मैं मानता हूँ कि ऐसा संभव नहीं हो सकता।

मणिपुर में ब्लॉकेज को लेकर कांग्रेस की इबोबी सिंह को आड़े हाथों लेते हुए श्री शाह ने कहा कि पॉलिटिकल कारणों से ही मणिपुर की कांग्रेस सरकार ब्लॉकेज को क्लियर नहीं करा रही है। उन्होंने कहा कि लॉ एंड ऑर्डर एक स्टेट सब्जेक्ट है, केंद्र सरकार इसमें हस्तक्षेप नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि मैं मणिपुर की जनता को कहना चाहता हूँ कि जिस दिन भारतीय जनता पार्टी का मुख्यमंत्री मणिपुर में शपथ लेगा, 24 घंटे के अंदर ही इस ब्लॉकेज को समाप्त कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मणिपुर में यदि भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनती है तो विकास की रुकी हुई गति को तेज किया जाएगा और जनता की परेशानियों को दूर करने का काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के कार्य क्षेत्र के अंदर जो काम आते हैं उन कार्यों में अच्छी प्रगति देखने को मिली है। उन्होंने कहा कि पीएमओ, भारत सरकार और नॉर्थ ईस्ट मंत्रालय द्वारा इनिशिएटिव लिए जाने के बावजूद मणिपुर सरकार ने ब्लॉकेज को हटाने की कोशिश नहीं की, इसके कारण आज मणिपुर की जनता परेशान है, मैं मानता हूँ कि ब्लॉकेज से हो रही परेशानी के कारण मणिपुर की जनता इबोबी सिंह के खिलाफ इस चुनाव में जनमत के माध्यम से अपना निर्णय स्पष्ट करेगी। उन्होंने कहा कि मैं विश्वास के साथ कहना चाहता हूँ कि 2017 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी यहां पर स्पष्ट बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है, असम के बाद मणिपुर पूर्वोत्तर का ऐसा दूसरा राज्य होगा जहां भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी मानती है कि आज़ादी के 70 साल के बाद पूर्वोत्तर के राज्यों और मणिपुर का जितना विकास होना चाहिए था, उतना नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर के राज्य विकास की दौड़ में काफी पिछड़ गए हैं। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर के राज्यों के विकास के लिए जो फंड और राशि केंद्र से भेजी जाती है, वह पूरा का पूरा भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाता है। उन्होंने कहा कि 15 साल की कांग्रेस सरकार के बावजूद यदि आज भी मणिपुर में लोगों को शुद्ध पीने का पानी नहीं मिल पाता है, स्वास्थ्य सेवायें नहीं मिल पाती है, बुनियादी सुविधाएं नहीं मिल पाती है, बेरोजगारी की समस्याओं से दो-चार होना पड़ रहा है, राज्य के अंदर लॉ एंड आर्डर की स्थिति ठीक नहीं है तो इसके केवल और केवल इबोबी सिंह की कांग्रेस सरकार जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि इबोबी सिंह सरकार को इस चुनाव में इस बात का हिसाब देना चाहिए कि केंद्र सरकार से खाद्य सुरक्षा क़ानून के तहत 2016 के बाद से जो लगभग डेढ़ लाख टन अनाज यहाँ भेजा गया है, वह कहाँ चला गया क्योंकि वह मणिपुर के गरीब लोगों तक तो पहुँचा ही नहीं, इसी तरह मनरेगा के तहत केंद्र सरकार जो करोड़ों रुपये मणिपुर सरकार को भेजती है, वह पूरा का पूरा भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाता है। उन्होंने कहा कि 100 से ज्यादा योजनायें जो विगत 15 सालों से भारत सरकार के फंड से मणिपुर में चली हैं, उनमें से किसी भी योजना का वर्क कंप्लीशन सर्टिफ़िकेट भी सबमिट नहीं किया गया है, यूटिलाइजेशन सर्टिफ़िकेट भी सबमिट नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि इबोबी सिंह सरकार ने आधी-अधूरी योजनाओं का उद्घाटन करके बहुत बड़ा घपला किया है, भर्ती में भी बड़ा घोटाला किया है मणिपुर की इबोबी सिंह सरकार ने। उन्होंने कहा कि इतना सारा करप्शन करने के बावजूद यदि मणिपुर की कांग्रेस सरकार यह सोचती है कि वह बच जायेगी तो यह होने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि मणिपुर में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनती है तो भ्रष्टाचार के सभी मामलों की जांच करके दोषियों पर कठोर कार्रवाई की जायेगी और उन्हें सजा दी जायेगी।


Download PDF (English)

Download PDF (Hindi)