Salient Points : Press Conference of BJP National President, Shri Amit Shah at Hotel Taj, Trivandrum Kerala

Saturday, 14 May 2016


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा त्रिवेंद्रम, केरल में की गई प्रेस वार्ता के मुख्य बिंदु


देश को दशकों से कांग्रेस के दोहरे रवैय्ये, वोट बैंक पॉलिटिक्स, भ्रष्टाचार और असंवेदनशीलता से जूझना पड़ा है, केरल से ऐसी असंवेदनशील सरकार का जाना जरूरी है: अमित शाह
*************
10 वर्षों तक केंद्र में और पांच वर्षों से केरल में कांग्रेस गठबंधन की सरकार ने केरल को तबाह करके रख दिया है, अंतरिक्ष से लेकर पाताल तक कांग्रेस ने केवल घोटाले ही घोटाले किये: अमित शाह
*************
रोहित वेमुला की आत्महत्या (हालांकि यह दुर्भागयपूर्ण था) पर तो राहुल गांधी हैदराबाद तुरंत पहुँच जाते हैं लेकिन केरल में जब एक दलित छात्रा के साथ बलात्कार कर बेरहमी से उसकी हत्या कर दी जाती है, फिर भी उन्हें केरल आने के लिए समय नहीं मिलता, आखिर क्यों: अमित शाह
*************
लगातार 50 वर्षों से कांग्रेस-नीत यूडीएफ और लेफ्ट की एलडीएफ ने केरल में तुष्टीकरण की राजनीति की है और समाज के एक बड़े हिस्से के साथ भेदभाव और अन्याय किया है: अमित शाह
*************
मैं विश्वास दिलाता हूँ कि यदि केरल में भाजपा की सरकार आती है तो किसी के साथ भी भेदभाव या अन्याय नहीं होगा, हम राज्य के सर्वांगीण और समान विकास के प्रति कटिबद्ध हैं: अमित शाह
*************
मैं दिल्ली में बैठे फ्रीडम ऑफ़ स्पीच के चैम्पियन और इन्टॉलरेंस के खिलाफ जंग छेड़ने वाले लोगों से कहना चाहता हूँ कि वे केरल में आकर लेफ्ट के हिंसा की स्टडी करें, तब उन्हें पता चलेगा कि भाजपा और आरएसएस के कार्यकर्ताओं पर वामपंथी ताकतों द्वारा कितने जुल्म ढाए गए हैं: अमित शाह
*************
केरल में भाजपा की सरकार बनते ही राज्य से हिंसा की राजनीति हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी। हम केरल में एक हिंसा मुक्त, करप्शन फ्री और राज्य के सर्वांगीण विकास के लिए काम करनेवाली सरकार देने के लिए प्रतिबद्ध हैं: अमित शाह
*************
केरल के विकास के लिए केंद्र द्वारा दी जा रही मदद राज्य सरकार के नेताओं के पास चला जाता है, इसलिए केरल का विकास नहीं हो पाता: अमित शाह
*************
आगामी 26 मई को हमारी केंद्र सरकार दो साल पूरे कर रही है लेकिन हम पर भ्रष्टाचार और घोटाले का एक भी आरोप नहीं है: अमित शाह
*************
मैंने अपनी जिंदगी में ऐसी असंवेदनशील सरकार नहीं देखी, केरल में लोगों की गरीबी और भूख से हो रही मौत मजाक है क्या: अमित शाह
*************
एक सत्य यह भी है कि केरल में औसत बेरोजगारी देश के औसत से तीन गुना ज्यादा है और केरल अपने कुल उपभोग का केवल 13% खाद्यान्न ही पैदा कर पाता है: अमित शाह
*************
एलडीएफ स्पष्ट करे कि चुनाव जीतने की स्थिति में श्री अच्युतानंद केरल के मुख्यमंत्री होंगें या फिर विजयन: अमित शाह
*************
मोदी सरकार गाँव, गरीब और किसानों की सरकार है, विकास के जरिये गरीबों की सेवा और उनके जीवन-स्तर में सुधार लाना हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है: अमित शाह
*************

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज त्रिवेंद्रम, केरल में एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया और केरल की बदहाली के लिए कांग्रेस के यूपीए एवं यूडीएफ और लेफ्ट के एलडीएफ सरकारों पर करारा प्रहार किया। उन्होंने राज्य की जनता से मजबूत, भ्रष्टाचार-मुक्त और समृद्ध केरल के नवनिर्माण के लिए प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने का आह्वान किया।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि केरल की जनता एलडीएफ या यूडीएफ में से किसी एक को चुनने के लिए वोट नहीं करती, बल्कि वह तो एक भ्रष्टाचारी सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए वोट करती है, लेकिन केरल की जनता इस बार एलडीएफ और यूडीएफ की बारी-बारी से बननेवाली सरकारों की परम्परा को तोड़ने जा रही है। उन्होंने कहा कि लगातार 50 वर्षों से कांग्रेस-नीत यूडीएफ और लेफ्ट की एलडीएफ ने केरल में तुष्टीकरण की राजनीति की है और समाज के एक बड़े हिस्से के साथ भेदभाव और अन्याय किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा कांग्रेस और कम्युनिस्ट की तरह पक्षपात की राजनीति में यकीन नहीं रखती है। उन्होंने कहा, "मैं विश्वास दिलाता हूँ कि यदि केरल में भाजपा की सरकार आती है तो किसी के साथ भी भेदभाव या अन्याय नहीं होगा, हम राज्य के सर्वांगीण और समान विकास के प्रति प्रतिबद्ध हैं।” उन्होंने कहा कि हमारी सरकार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के 'सबका साथ, सबका विकास' के सिद्धांत पर काम कर रही है।

श्री शाह ने कहा कि 50 वर्षों तक केरल में भाजपा और आरएसएस के स्वयंसेवकों पर अत्याचार किया जा रहा है, हमारे कई कार्यकर्ताओं की जानें गई है, कई कार्यकर्ताओं को अपाहिज बना दिया गया है। उन्होंने कहा कि मैं दिल्ली में बैठे फ्रीडम ऑफ़ स्पीच के चैम्पियन और इन्टॉलरेंस के खिलाफ जंग छेड़ने वाले लोगों से कहना चाहता हूँ कि वे केरल में आकर लेफ्ट के हिंसा की स्टडी करें, तब उन्हें पता चलेगा कि भाजपा और आरएसएस के कार्यकर्ताओं पर वामपंथी ताकतों द्वारा कितने जुल्म ढाए गए हैं और उन्हें कितना प्रताड़ित किया गया है। श्री शाह ने कहा, “केरल में भाजपा की सरकार बनते ही राज्य से हिंसा की राजनीति हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी। हम केरल में एक हिंसा मुक्त, करप्शन फ्री और राज्य के सर्वांगीण विकास के लिए काम करनेवाली सरकार देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।” श्री शाह ने कहा कि लेफ्ट का विश्व से ख़त्म हो चुका है और कांग्रेस का देश भर से खात्मा हो चुका है, ये दोनों पार्टियां भारतीय राजनीति में अप्रासंगिक हो चुकी है। उन्होंने कहा कि मैं केरल की जनता से अपील करता हूँ कि केरल भाजपा के साथ आये, हम राज्य के विकास के लिए एवं प्रदेश के युवाओं की भलाई के लिए तत्पर हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस-नीत यूडीएफ और लेफ्ट की एलडीएफ सरकारों ने केरल में भ्रष्टाचार और सरकार दोनों को एक-दूसरे का पर्याय बना दिया है। उन्होंने कहा कि 10 वर्षों तक केंद्र में और पांच वर्षों से केरल में कांग्रेस गठबंधन की सरकार ने केरल को तबाह करके रख दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राज में ऐसी कोई जगह नहीं बची जहां भ्रष्टाचार न हुआ हो। उन्होंने कहा कि जमीन पर आदर्श सोसायटी एवं कॉमनवेल्थ घोटाला, जल में सबमरीन घोटाला, हवा में अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर, प्लेन खरीद एवं टूजी घोटाला और पाताल में कोयला घोटाला - अंतरिक्ष से लेकर पाताल तक कांग्रेस ने केवल घोटाले ही घोटाले किये। उन्होंने कहा कि यही हाल केरल के कांग्रेस सरकार का भी है - पॉमोलिन ऑयल घोटाला, टिटैनियम घोटाला, सौर ऊर्जा घोटाला, नर्सिंग भर्ती घोटाला, फाइनैंस मिनिस्टर और रोड एंड ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर का घोटाला - केरल की कांग्रेस सरकार घोटालों की सरकार बनकर रह गई है। उन्होंने कहा कि राज्य के विकास के लिए केंद्र द्वारा दी जा रही मदद सरकार के नेताओं के पास चला जाता है, इसलिए केरल का विकास नहीं हो पाता। श्री शाह ने कहा कि आगामी 26 मई को हमारी केंद्र सरकार दो साल पूरे कर रही है लेकिन हम पर भ्रष्टाचार और घोटाले का एक भी आरोप नहीं है।

एक प्रश्न के जवाब में श्री शाह ने कहा कि 2013 में आउटलुक मैगजीन ने केरल में भूखमरी को लेकर एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी, तब केरल के मुख्यमंत्री श्री ओमान चांडी ने कहा था कि लोग ठीक से खाना नहीं खाते हैं, इसलिए मौतें हो रही हैं, इसी तरह केरल सरकार के एक मंत्री केसी जोसेफ ने कहा कि केरल में आदिवासियों की मृत्यु शराब पीने से हो रही है। श्री शाह ने कहा कि मैंने अपनी जिंदगी में ऐसी असंवेदनशील सरकार नहीं देखी, केरल में लोगों की गरीबी और भूख से हो रही मौत मजाक है क्या? उन्होंने कहा कि मुद्दा यह है कि केरल में भूख से मौत हो रही है या नहीं। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया से पता चला है कि कल ही भूख से दो बच्चों की मौतें केरल में हुई है। श्री शाह ने कहा कि एक सत्य यह भी है कि केरल में औसत बेरोजगारी देश के औसत से तीन गुना ज्यादा है और केरल अपने कुल उपभोग का केवल 13% खाद्यान्न ही पैदा कर पाता है। उन्होंने पत्रकारों से भी अपील की कि आप केरल की इस सच्चाई से भी जनता को रू-ब-रू कराएं।

भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि हालांकि मैं रोहित वेमुला की आत्महत्या को दुर्भाग्यपूर्ण मानता हूँ लेकिन मैं राहुल गांधी से पूछना चाहता हूँ कि आप रोहित की आत्महत्या पर तो हैदराबाद तुरंत पहुँच जाते हैं लेकिन केरल में एक दलित छात्रा के साथ हैवानियत की सारी हदें पार कर दी जाती है, उसकी हत्या कर दी जाती है, फिर भी आपको केरल आने के लिए समय नहीं मिलता, आखिर क्यों, क्या इसलिए कि केरल में आपकी सरकार है? श्री शाह ने कहा कि देश को दशकों से कांग्रेस के दोहरे रवैय्ये, वोट बैंक पॉलिटिक्स, भ्रष्टाचार और असंवेदनशीलता से जूझना पड़ा है, केरल से ऐसी असंवेदनशील सरकार का जाना जरूरी है।

श्री शाह ने कहा कि पहले प्रधानमंत्री को सुनने के लिए हमारे कान तरस जाते थे, आज हमारे पास एक ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो हर हमेशा जनता से जुड़ी समस्याओं को हल करने के लिए सदैव तत्पर रहते हैं। उन्होंने सबरीमाला हादसे को याद करते हुए कहा कि तब केंद्र और राज्य दोनों जगह कांग्रेस गठबंधन की सरकार थी लेकिन तब के प्रधानमंत्री के पास सबरीमाला जाने तक का समय नहीं था लेकिन पुत्तिंगल मंदिर में हादसे के तुरंत बाद हमारे प्रधानमंत्री पहुँचते हैं, शोक संतप्त परिवारों से मिलते है, उन्हें ढाँढस बंधाते हैं, हिम्मत देते है और राहत कार्यों की खुद समीक्षा करते हैं। उन्होंने कहा कि केरल की बेटियां और मेहनतकश लोग विदेशों में मुसीबत में फंसते हैं तो हमारी सरकार अविलम्ब उनकी सकुशल वापसी सुनिश्चित करती है। उन्होंने कहा कि हमने एक भ्रष्टाचार मुक्त, संवेदनशील और लोकाभिमुख सरकार देने का काम किया है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि भरपूर प्राकृतिक सौंदर्य और विकास की अपार संभावनाओं के बावजूद केरल में पर्यटन उद्योग फल-फूल नहीं पाया है। उन्होंने कहा कि युवाओं और महिलाओं को रोजगार की तलाश में दूर देशों में भटकना पड़ रहा है। श्री शाह ने कहा कि यदि उद्योग धंधे और बंदरगाहों का निर्माण यहां होता तो केरल दक्षिण का गेटवे ऑफ़ इंडिया बन सकता था। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि केरल का युवा यहीं रहकर दुनिया के युवाओं के साथ स्पर्धा करे, रोजगारी प्राप्त करे और देश के नवनिर्माण में अपनी भूमिका अदा कर सके।

श्री शाह ने कहा कि हमने हमेशा केरल को वरीयता दी है। उन्होंने कहा कि जब राज्यसभा में सदस्यों को चुनने की बारी आई तो हमने केरल से दो सांसदों प्रो. रिचर्ड हे और श्री सुरेश गोपी को संसद भेजा। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि केरल में कम्युनिस्ट 96 वर्षीय अच्युतानंद जी को आगे कर चुनाव लड़ रही है लेकिन मैं एलडीएफ से पूछना चाहता हूँ कि वह स्पष्ट करे कि चुनाव जीतने की स्थिति में श्री अच्युतानंद केरल के मुख्यमंत्री होंगें या फिर विजयन। उन्होंने कांग्रेस और लेफ्ट पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि चुनाव में किसी भी दल को बहुमत न आने की स्थिति में कांग्रेस और लेफ्ट मिलकर सरकार चलाएगी। उन्होंने कहा कि हम किसी भी परिस्थिति में न तो कांग्रेस को और न ही लेफ्ट को समर्थन देंगें।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार गाँव, गरीब और किसानों की सरकार है, श्री मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा-नीत केंद्र सरकार ने पिछले 20 महीनों से गरीबों, शोषितों और वंचितों के उत्थान तथा सामाजिक कल्याण के लिए अनवरत कार्य कर रही है और अनेकों परिवर्तनात्मक योजनाओं की नींव रखी है चाहे वह प्रधानमंत्री जन-धन योजना हो, प्रधानमंत्री जीवन बीमा योजना हो, जीवन सुरक्षा बीमा हो, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना हो, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना हो, मेक इन इंडिया हो, स्टार्ट-अप इंडिया हो या फिर स्टैंड-अप इंडिया हो। श्री शाह ने कहा कि विकास के जरिये गरीबों की सेवा और उनके जीवन-स्तर में सुधार लाना हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है।

भाजपा अध्यक्ष ने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि एक विकसित और मजबूत केरल के लिए राज्य में भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने के लिए कटिबद्ध हो जाएँ ताकि राज्य में किसी के साथ भेदभाव और अन्याय न हो सके। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि हिंसा और भ्रष्टाचार मुक्त केरल के नवनिर्माण के लिए भाजपा को बहुमत देकर राज्य में सेवा का एक मौक़ा दें। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि इस बार केरल की जनता भ्रष्टाचार और हिंसा की प्रतीक यूडीएफ और एलडीएफ सरकारों के ऊपर विकास के लिए काम करनेवाली सरकार को तरजीह देगी और राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाएगी।


Download PDF