Salient Points : Speech by BJP National President, Shri Amit Shah Addressing Awadh Kshetra Booth Sammelan In Barabanki (Uttar Pradesh)

Monday, 27 June 2016


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, श्री अमित शाह द्वारा बाराबंकी, उत्तर प्रदेश में आयोजित अवध क्षेत्र बूथ सम्मेलन में दिए गए संबोधन के मुख्य बिंदु


कांग्रेस की सोनिया - मनमोहन की सरकार को नेताजी और बहनजी, दोनों ने समर्थन दिया था और एक मायने में तो कांग्रेस की यूपीए सरकार सपा, बसपा एवं कांग्रेस की ही मिलीजुली सरकार थी: अमित शाह
*************
पिछले 15 वर्षों से यूपी में सपा-बसपा की सरकारें रहीं, लेकिन गरीबी दूर हुई क्या, दलितों के जीवन में सुधार हुआ क्या: अमित शाह
*************
बसपा ने दलितों का उपयोग किया जबकि सपा ने दलितों का उत्पीड़न किया। केवल भारतीय जनता पार्टी ही दलितों का भला कर सकती है: अमित शाह
*************
किसी भी राज्य में एक मुख्यमंत्री होता है, लेकिन उत्तर प्रदेश में साढ़े तीन मुख्यमंत्री हैं। जहां साढ़े तीन मुख्यमंत्री हो, वहां विकास कभी नहीं हो सकता: अमित शाह
*************
उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार अवैध तरीके से गरीबों की भूमि कब्जाने के सिवाय और कोई काम करती ही नहीं: अमित शाह
*************
मथुरा के बीचोंबीच अखिलेश सरकार के नाक के नीचे सरकार की जमीन हथिया ली जाती है, जमीन खाली कराने गए पुलिस अधिकारियों को सरेआम मार दिया जाता है और अखिलेश जी कहते हैं कि मथुरा कोई मुद्दा नहीं है: अमित शाह
*************
मथुरा एक शर्मनाक कांड है और हम इसे लेकर उत्तर प्रदेश की जनता के पास जायेंगें: अमित शाह
*************
अखिलेश सरकार पुलिस अधिकारियों की सुरक्षा तो कर नहीं पाती, वह राज्य की जनता की सुरक्षा क्या करेगी: अमित शाह
*************
कैराना से हुआ पलायन कोई अकेला मामला नहीं है, ऐसा पलायन पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हर जगह से हुआ है: अमित शाह
*************
यदि कोई डीपी जल जाती है तो उसे बदल दिया जाता है, इसी तरह इस सपा सरकार को भी बदल दीजिये, विकास स्वतः गाँव-गाँव और घर-घर पहुँच जाएगा: अमित शाह
*************
उत्तर प्रदेश में कानून और व्यवस्था की जगह भ्रष्टाचार से काम होता है: अमित शाह
*************
सोनिया-मनमोहन की सरकार के समय 13वें वित्त आयोग में उत्तर प्रदेश को 2.80 लाख करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता दी गई जबकि 14वें वित्त आयोग में प्रधानमंत्री, श्री नरेन्द्र मोदी जी ने उत्तर प्रदेश को लगभग 7.10 लाख करोड़ रुपये देने का फैसला किया है: अमित शाह
*************
मोदी जी गाँव, गरीब और किसानों के कल्याण की कितनी भी योजनायें बना लें लेकिन उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की अखिलेश सरकार के रहते राज्य का विकास नहीं हो सकता: अमित शाह
*************
श्री मोदी जी के नेतृत्त्व में केंद्र की भाजपा सरकार पर पिछले दो वर्षों में विरोधी भी भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा सके हैं: अमित शाह
*************
मोदी सरकार ने पिछले दो वर्षों में ही गरीबी उन्मूलन के इतने सारे काम किये हैं जो आजादी के बाद से अब तक नहीं हुए: अमित शाह
*************

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, श्री अमित शाह ने आज सोमवार को बाराबंकी, उत्तर प्रदेश में आयोजित अवध क्षेत्र बूथ सम्मेलन को सम्बोधित किया और कार्यकर्ताओं से उत्तरप्रदेश में भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी की प्रतीक समाजवादी पार्टी की सरकार को जड़ से उखाड़कर भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की एक लोकप्रिय सरकार बनाने का आह्वान किया।

अवध की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अवध की भूमि रामायण काल से ही पूजनीय और वंदनीय है। उन्होंने कहा कि भगवान राम ने यहीं से केवट और निषादराज को दोस्त बनाने की शुरुआत की थी। उन्होंने कहा कि इसी तरह उत्तर प्रदेश में पूर्ण बहुमत की भाजपा सरकार की नींव भी अवध से ही रखी जाने वाली है। उन्होंने कहा कि 2014 में देश में हुए विशाल परिवर्तन यूपी और यहाँ की जनता के द्वारा ही संभव हो सका।

प्रधानमंत्री, श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में केंद्र की भाजपा सरकार की दो वर्ष की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए श्री शाह ने कहा कि मोदी सरकार के दो वर्षों का शासन अद्वितीय रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सोनिया - मनमोहन की सरकार को नेताजी और बहनजी, दोनों ने समर्थन दिया था और एक मायने में तो कांग्रेस की यूपीए सरकार सपा, बसपा एवं कांग्रेस की ही मिलीजुली सरकार थी। उन्होंने कहा कि 10 वर्षों के शासनकाल में कांग्रेस की इस मिलीजुली सरकार ने 12 लाख करोड़ रुपये से अधिक के घपले और भ्रष्टाचार किये जबकि श्री मोदी जी के नेतृत्त्व में केंद्र की भाजपा सरकार पर पिछले दो वर्षों में विरोधी भी भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा सके हैं। उन्होंने कहा कि सरकार में शामिल हमारे सभी कार्यकर्ता प्रमाणिकता और निष्ठा के साथ काम कर रहे हैं।

सपा और बसपा पर करारा प्रहार करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि सपा और बसपा अपने आप को दलितों और गरीबों की सरकार कहती है जबकि पिछले 15 वर्षों से यूपी में सपा-बसपा की सरकारें रहीं, लेकिन गरीबी दूर हुई क्या, दलितों के जीवन में सुधार हुआ क्या? उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने पिछले दो वर्षों में ही गरीबी उन्मूलन के इतने सारे काम किये हैं जो आजादी के बाद से अब तक नहीं हुए। उन्होंने कहा कि जन-धन योजना, मुद्रा बैंक योजना, ग्राम सड़क योजना, ग्रामीण विद्युतीकरण योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, फसल बीमा योजना, स्वायल हेल्थ कार्ड, प्रधानमंत्री सिंचाई योजना जैसी कई लोक-कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत मोदी सरकार ने की है लेकिन उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार इन योजनाओं को प्रदेश में जनता तक पहुँचने ही नहीं देती। उन्होंने एक उदाहरण देते हुए कहा कि यदि कोई डीपी जल जाती है तो उसे बदल दिया जाता है, इसी तरह इस सपा सरकार को भी बदल दीजिये, विकास स्वतः गाँव-गाँव और घर-घर पहुँच जाएगा। उन्होंने कहा कि मोदी जी गाँव, गरीब और किसानों के कल्याण की कितनी भी योजनायें बना लें लेकिन उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की अखिलेश सरकार के रहते राज्य का विकास नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि जब तक उत्तर प्रदेश का विकास नहीं हो जाता तब तक देश का विकास नहीं हो सकता। उन्होंने अखिलेश सरकार पर बड़ा हमला करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार अवैध तरीके से गरीबों की भूमि कब्जाने के सिवाय और कोई काम करती ही नहीं। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के विकास के लिए उखाड़ कर फेंक दीजिये राज्य से सपा सरकार को।

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री, श्री नरेन्द्र भाई मोदी जी के नेतृत्त्व में पूरा देश विकास के रास्ते पर चल पड़ा है। उन्होंने कहा कि 2015 का वर्ष उपलब्धियों के मामले में कई मायनों में अव्वल रहा। इस वर्ष आजादी के बाद अब तक का सबसे ज्यादा यूरिया का उत्पादन हुआ, सबसे ज्यादा एथेनोल का उत्पादन हुआ, सबसे ज्यादा गैस कनेक्शन वितरित किये गए, सबसे ज्यादा कोयला का उत्पादन किया गया, सबसे ज्यादा बिजली का उत्पादन हुआ, सबसे ज्यादा रेल लाइन बिछाई गई, सबसे ज्यादा सड़क निर्माण हुआ, सबसे ज्यादा विकास दर अर्जित की गई और सबसे ज्यादा विदेशी मुद्रा के भण्डार का रिकॉर्ड कायम किया गया।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि सोनिया-मनमोहन की सरकार के समय 13वें वित्त आयोग में उत्तर प्रदेश को 2.80 लाख करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता दी गई जबकि 14वें वित्त आयोग में प्रधानमंत्री, श्री नरेन्द्र मोदी जी ने उत्तर प्रदेश को लगभग 7.10 लाख करोड़ रुपये देने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव जी अपने कार्यकाल में केंद्र से राज्य के विकास और प्रदेश की जनता की भलाई के लिए दिए गए पैसे का हिसाब दें कि आखिर उन्होंने इस पैसे से क्या-क्या किया? उन्होंने अखिलेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि न तो अस्पतालों में दवाएं हैं, न अच्छे स्कूल हैं, न उद्योग और कारखाने लगे हैं और न ही किसानों को मुआवजा मिल रहा है। उन्होंने कहा कि अखिलेश जी हिसाब दीजिये अपने पांच वर्षों के कार्यकाल का, यह आपकी जिम्मेदारी बनती है। उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि किसी भी राज्य में एक मुख्यमंत्री होता है, लेकिन उत्तर प्रदेश में साढ़े तीन मुख्यमंत्री हैं। उन्होंने कहा कि जहां साढ़े तीन मुख्यमंत्री हो, वहां विकास कभी नहीं हो सकता।

मथुरा हिंसा का जिक्र करते हुए श्री शाह ने कहा कि अखिलेश जी कहते हैं कि मथुरा कोई मुद्दा नहीं हैं, भाजपा मथुरा को बेवजह चुनाव का मुद्दा बना रही हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री पर पलटवार करते हुए कहा कि मथुरा के बीचोंबीच आपके कैबिनेट सहयोगी के संरक्षण में सरकार की जमीन हथिया ली जाती है, जमीन खाली कराने गए पुलिस अधिकारियों को सरेआम मार दिया जाता है और आप कहते हैं कि मथुरा कोई मुद्दा नहीं है! उन्होंने अखिलेश सरकार पर हमला करते हुए कहा कि अखिलेश सरकार पुलिस अधिकारियों की सुरक्षा तो कर नहीं पाती, वह राज्य की जनता की सुरक्षा क्या करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार तो गरीबों को जमीन देती है लेकिन उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार गरीबों से उनकी जमीन छीनने का काम करती है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता राज्य के गरीबों से छीनी गई एक-एक इंच जमीन की वापसी के लिए संघर्ष करेगी। उन्होंने कहा कि हमने इसलिए एक कब्जा हटाओ ईमेल [email protected] जारी किया था, इसपर अबतक 12 सौ से अधिक शिकायतें आ चुकी है। उन्होंने अखिलेश सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि भले ही मथुरा अखिलेश सरकार के लिए कोई मुद्दा न हो, लेकिन हमारे लिए यह एक मुद्दा है। उन्होंने कहा कि मथुरा एक शर्मनाक कांड है और हम इसे लेकर उत्तर प्रदेश की जनता के पास जायेंगें।

कैराना का जिक्र करते हुए श्री शाह ने कहा कि कैराना से हुआ पलायन कोई अकेला मामला नहीं है, ऐसा पलायन पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हर जगह से हुआ है। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कहते हैं कि यह कम्युनल मुद्दा नहीं है बल्कि यह लॉ एंड आर्डर का इश्यू है। उन्होंने कहा कि अखिलेश जी यह बताएं कि आखिर लॉ एंड आर्डर किसके अधिकार क्षेत्र में आता है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में लॉ एंड आर्डर का मतलब हो गया है ’लो और आर्डर करो'। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून और व्यवस्था की जगह भ्रष्टाचार से काम होता है। उन्होंने कहा कि थाने में फ़रियाद तक सुनी नहीं जाती, फ़रियाद सुनने से पहले लोगों की जाति और सम्प्रदाय पूछी जाती है, नौकरी में भी एक ही जाति और सम्प्रदाय का बोलबाला रहता है, यहाँ तक कि लैपटॉप भी एक ही जाति और सम्प्रदाय को दिया जाता है। उन्होंने कहा कि ऐसी व्यवस्था को सहन नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी समाज के हर वर्गों के एक सामान विकास की बात करती है। उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री जी का नारा है - सबका साथ, सबका विकास और हम इसी सिद्धांत पर काम करते हुए देश के सर्वांगीण विकास की योजनायें बना रहे हैं।

श्री शाह ने कहा कि बसपा ने दलितों का उपयोग किया जबकि सपा ने दलितों का उत्पीड़न किया। उन्होंने कहा कि केवल भारतीय जनता पार्टी ही दलितों का भला कर सकती है। कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा कि आप एकजुट हो जाइए, उत्तर प्रदेश का अगला चुनाव भाजपा ही जीतने वाली है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का विकास केवल और केवल पूर्ण बहुमत की भारतीय जनता पार्टी की सरकार ही कर सकती है। उन्होंने कहा कि भाजपा की विजय कार्यकर्ताओं की निष्ठा और उनके पुरुषार्थ के कारण ही होती है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि आपने 2014 में जो किया, इसे एक बार फिर से दोहराने का समय आ गया है, भाजपा के कार्यकर्ता ही उत्तर प्रदेश को सपा-बसपा की अराजकता से मुक्ति दिला सकते हैं।

Download PDF