Speech: Salient Points by Shri Amit Shah at Bow Bazar (Kolkata)

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष, श्री अमित शाह द्वारा कलकत्ता में दिए गए भाषण के मुख्य बिंदु

15 अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी जी ने लाल किले के प्राचीर से देश को संबोंिधत किया था। लाल किले के प्राचीर से पहले भी कई प्रधानमंत्री देश की जनता को संबोधित करते आए हैं। लेकिन जनता की आवाज को इस तरह बुलंदी से किसी ने नहीं उठाया।

आजादी के 60 साल बाद भी बैंक में 60 प्रतिशत से ज्यादा लोगों का खाता नहीं खुला था। लेकिन प्रधानमंत्री जन धन योजना के शुरूआती दौर में ही 4.5 करोड़ लोगों का खाता खुल चुका है।

देश की सुरक्षा ही नई सरकार की प्राथमिकता है।

बंगाल विकास करना चाहता है तो राज्य सरकार में परिवर्तन करना होगा।

महंगाई को काबू में करने के लिए कई उपाय किए जा रहे हैं जिसकी वजह से महंगाई अब धीरे-धीरे नियंत्रण में आ रही है।

काले धन को वापस लाने के लिए एसआईटी का गठन किया गया है और विदेशी बैंकों से काला धन वापस लाने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं।

गंगोत्री से गंगासागर तक गंगा की स्वच्छता के लिए योजनाएं बनाई गई हैं।

सरकार के प्रति जनता और नौकरशाह में विश्वास का माहौल बना है।

100 दिन में देश में बहुत परिवर्तन आया है और अब जनता में विकास की संभावनाएं जग रही हैं।

मैं पूछना चाहता हूं कि प. बंगाल में क्या परिवर्तन हुआ है? सड़कें बनी हैं? गुंडागर्दी कम हुई है? महिलाएं सुरक्षित हैं ? क्या बंगाल की अस्मिता लौटी है?

ममता जी जितना समय राजनीति करने में निकालती हैं, उतना समय बंगाल की जनता की चिंता करतीं तो यहां की जनता का भला होता।

तृणमूल कांग्रेस के शासन काल में बांग्लादेशी घुसपैठियों की संख्या 5 गुणा बढ़ गई हैं।

घोटालों से मुक्ति पाने के लिए आपने ममता जी को चुना था। जो ममता जी नंदीग्राम और सिंगूर में 2000 किसानों की जमीनें छीनी जाने पर अनशन की थीं आज उसी ममता जी को शारदा चिट फंट, जिसमें 17 लाख गरीब बांग्लावासियों की डिपाॅजिट डूब गई, उसके लिए उपवास या धरना करने का मन क्यों नहीं करता? क्योंकि उनके चेले-चपाटी इसमें लिप्त हैं।

तुष्टीकरण की राजनीति से किसी का भला नहीं होने वाला है। मैं ममता जी से कहना चाहूंगा कि सभी के साथ समान व्यवहार कीजिए, तभी प. बंगाल जैसे सीमावर्ती राज्य में शांति कायम रहेगी।

घुसपैठ रोकिए, भ्रष्टाचार रोकिए, आपके गुंडे राज्य की जनता पर जो कहर बरपा रहे हैं उन्हें रोकिए, तभी जाकर सुशासन स्थापित होगा। अगर नहीं कर सकतीं हैं तो जगह खाली कर दीजिए, भाजपा प.बंगाल को सुशासन देने का काम कर दिखाएगी। मोदी जी के नेतृत्व में हमने कर दिखाया है। गुजरात, राजस्थान, मप्र, छत्तीसगढ और गोवा, जहां हमारी राज्य सरकारें हैं, वहां हमने सुशासन स्थापित किया और 10 प्रतीशत से ज्यादा विकास दर हासिल कर दिखाया है। वहां कल-कारखाने लग रहे हैं, 24 घंटे बिजली है, वहां की कानून-व्यवस्था अच्छी है और महिलाएं भी वहां सुरक्षित हैं।

मैं ममता जी से कहना चाहता हूं कि अगर आपमें सामथ्र्य नहीं है तो भाजपा प. बंगाल की जनता को अच्छा शासन देने के लिए तैयार है। वैसे भी, ममता जी आप चिंता मत कीजिए, 2016 में प. बंगाल की जनता आपको रास्ता दिखा देगी।

मोदी जी की विकास यात्रा में प. बंगाल भी जुड़ जाए, इसका आह्वान करने आया हूं।

बंगाल की जनता ने सीपीआई (एम), सीपीआई, कांग्रेस और टीएमसी को भी मौका दिया। एक बार भाजपा को मौका देकर दीजिए आपकी सारी आशाओं पर हम खरे उतरेंगे।

फिर से एक बार रामकृष्ण, विवेकानंद, सुभाषचंद्र बोस, टैगोर और शरतचंद का बंगाल वापस लौटाने का वादा करता हूं।


Download PDF