Salient Points of Presidential Speech by BJP National President, Shri Amit Shah Addressing BJP National Executive Meeting at NDMC, Convention Centre, New Delhi

Friday, 06 January 2017


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा नई दिल्ली के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में आयोजित भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक के उद्घाटन सत्र में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु


• कालीकट की नेशनल काउंसिल की मीटिंग के बाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने कई ऐसे ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं जिससे पूरे देश की जनता मन से पार्टी और सरकार के साथ जुड़ गई है।

• उरी में कायराना हमले के बाद देश भर में हताशा और निराशा का माहौल था, देश की जनता आशा भरी नजरों से प्रधानमंत्री और सरकार की ओर देख रही थी क्योंकि उन्हें केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार से सख्त क़दमों की अपेक्षा थी। 2014 के लोक सभा चुनावों के दौरान हमने देश की जनता को यह भरोसा दिलाया था कि यदि केंद्र में श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्त्व में भाजपा की सरकार बनती है तो देश की सीमा और वीर जवानों की सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी।

• इस बार केंद्र में कांग्रेस की सरकार नहीं बल्कि भारतीय जनता पार्टी की नरेन्द्र मोदी सरकार थी। प्रधानमंत्री जी के दृढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति और सेना के वीर जवानों के अप्रतिम शौर्य के फलस्वरूप आजाद भारत में पहली बार दुश्मन के घर में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक करके मुंहतोड़ जवाब दिया गया।

• हमने जो कहा था, करके दिखाया। इस एक निर्णय से दुनिया भर में भारत को देखने का नजरिया बदला। इससे दुनिया भर में एक मजबूत संदेश गया कि हम दुनिया के अन्य देशों के साथ-साथ पड़ोसियों से भी शान्ति और समभाव चाहते हैं लेकिन सीमा की सुरक्षा के प्रति हम समर्पित भी हैं और वचनबद्ध भी। हम सीमा पर अतिक्रमण किसी भी कीमत पर सहन नहीं कर सकते।

• सर्जिकल स्ट्राइक पर विपक्ष की नकारात्मक राजनीति देश की जनता के सामने आई। कोई खून की दलाली की बात कर रहा था तो कोई इसके सबूत मांग रहा था पर देश की जनता चट्टान की तरह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की दृढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति और सेना की वीरता के साथ खड़ी रही।

• दुनिया के किसी भी देश ने इतने बड़े पैमाने पर विमुद्रीकरण का फैसला लेकर देश की 86% चलन की मुद्रा को ख़त्म करने का फैसला नहीं किया होगा। प्रधानमंत्री जी ने 8 नवम्बर, 2016 को विमुद्रीकरण का जो ऐतिहासिक फैसला लिया, उससे एक झटके में ही जाली नोटों के कारोबार, आतंकवाद, ड्रग्स, नक्सलवाद और भ्रष्टाचार पर कड़े प्रहार के साथ-साथ चुनाव से काला धन के प्रभाव को सीमित करने में भी सफलता प्राप्त हुई है।

• विमुद्रीकरण के फैसले के बाद विपक्ष की जो नकारात्मक सोच देश की जनता के सामने आई, उससे विरोध करने वाले खुद एक्सपोज हो गए। विपक्ष ने तमाम हथकंडे अपनाकर देश की जनता को गुमराह करने का काम किया लेकिन देश की जनता कष्ट सहने के बावजूद प्रधानमंत्री जी के फैसले के साथ एकजुट हो खड़ी रही।

• 8 नवम्बर के पहले ये विरोधी पार्टियां प्रधानमंत्री जी से पूछा करते थे कि प्रधानमंत्री ने काले धन के लिए क्या किया, 8 नवम्बर के बाद यही विरोधी पार्टियां यह कह रही हैं कि प्रधानमंत्री जी ने काले धन को ख़त्म करने के लिए यह क्यों किया?

• फैसले ऐसे लेने चाहिए जो लोगों के भले के लिए हों न कि लोगों के अच्छे लगने के लिए।

• लोगों को तकलीफ हुई, हमें भी इसका आभास है लेकिन दीर्घ काल के लिए देश के विकास के लिए यदि कोई अच्छा काम हो तो थोड़ी कठिनाइयां भी होंगी।

• विमुद्रीकरण का फैसला देश हित में लिया गया फैसला है, इसी की नींव पर एक विकसित भारत का निर्माण संभव हो सकेगा। • 8 नवम्बर के बाद देश में जितने भी सर्वे हुए हैं, उन सभी सर्वे में एक बात साफ़ है कि देश की लगभग 75 फीसदी से अधिक आबादी विमुद्रीकरण के फैसले के साथ है। • विमुद्रीकरण के फैसले के बाद देश भर में जहां कहीं भी चुनाव हुए हैं, वहां भारतीय जनता पार्टी को ज्यादा वोट, ज्यादा सीटें और ज्यादा सफलता प्राप्त हुई है।

• विमुद्रीकरण का फैसला कोई अचानक लिया गया फैसला नहीं था। केंद्र में सरकार बनते ही पहले दिन से ही काले-धन के खिलाफ निर्णायक लड़ाई को लेकर मोदी सरकार एक्टिव मोड में थी।

• पहली कैबिनेट मीटिंग में ही सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार काले-धन की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई और डेढ़ महीने में ही सारी जानकारियों को एसआईटी को जांच के लिए सौंप दिया गया। बैंकों में 25 करोड़ से अधिक जन-धन खाते खुलवाये गए। फिर ओपन डिक्लेरेशन स्कीम लाई गई, फिर ब्लैक मनी एक्ट, बेनामी संपत्ति और डीटीएए जैसे प्रावधान किये गए।

• देश की जनता ने भारतीय जनता पार्टी को देश चलाने के लिए नहीं बल्कि देश को बदलने के लिए, देश की स्थिति में परिवर्तन लाने के लिए पूर्ण बहुमत दिया है।

• हम यदि चाहते हैं कि गरीबों को शुद्ध पीने का पानी मिले, 24 घंटे बिजली मिले, दो वक्त का खाना मिले, रोजगार मिले, शिक्षा मिले, बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिले तो बजट को आगे ले कर जाना होगा, इसे बढ़ाना होगा।

• हम यदि चाहते हैं कि हमारी सेना दुनिया की सबसे बड़ी, सबसे मजबूत और सबसे अत्याधुनिक सेना बने तो इसके लिए एक बड़े बजट की जरूरत है।

• हिन्दुस्तान के युवाओं को आरएंडडी (R&D) के लिए धन मुहैय्या कराने की जरूरत है।

• देश को यदि आगे लेकर जाना है तो हमें पैरेलल इकॉनमी को ख़त्म करना होगा और इसी प्रयास का नाम है विमुद्रीकरण।

• देश में पैरेलल इकॉनमी की स्थिति को बदलने की जिम्मेदारी भारतीय जनता पार्टी की नरेन्द्र मोदी सरकार की है।

• भारतीय जनता पार्टी के सभी कार्यकर्ता पूरे आत्मविश्वास के साथ इस फैसले को लेकर देश की जनता के बीच जाएँ। देश की जनता प्रधानमंत्री जी के इस फैसले के साथ है। देश का गरीब भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के इस फैसले का स्वागत करने के लिए तहेदिल से तैयार है।

• जो लोग नोटबंदी का विरोध कर रहे हैं, वे काले-धन के समर्थन में खड़े हैं। आज वे देश की जनता के सामने एक्सपोज हो रहे हैं। जनता ने उन्हें चिह्नित कर लिया है।

• हम गौरवान्वित हैं कि ये दोनों फैसले प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्त्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने लिए हैं। (सभी कार्यकर्ताओं ने खड़े होकर इस ऐतिहासिक फैसले के लिए करतल ध्वनि के साथ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली का स्वागत किया और उनके प्रति अपना आभार व्यक्त किया।)

• प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्त्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने देश को लेस-कैश सोसायटी बनाने के लिए एक-के-बाद-एक फैसले करके हमें एक प्लेटफ़ॉर्म दिया गया है, अब दृढ़ता के साथ देश को विकास-पथ पर आगे ले जाने की जरूरत है।

• भीम (BHIM) एप का हर जगह स्वागत हुआ है। जन-प्रतिनिधि और पदाधिकारी जनता को इसका उपयोग करने को प्रेरित करें। यदि चुने हुए जन-प्रतिनिधि लेस-कैश के अभियान को गति देंगें तो देश की अर्थक्रान्ति का सेहरा भारतीय जनता पार्टी के सिर बंधेगा।

• टैक्स चोरी को ख़त्म करने से हम विकास में पीछे छूट गए देश के गरीबों को ऊपर उठाने में सफल हो पायेंगें।

• कालीकट के अधिवेशन के बाद देश भर में हुए उप-चुनावों और स्थानीय निकाय के चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को अप्रत्याशित विजय श्री हासिल हुई है। पश्चिम बंगाल, गुजरात, चंडीगढ़, महाराष्ट्र, राजस्थान, त्रिपुरा – हर जगह हमें जीत हासिल हुई है। विमुद्रीकरण के फैसले के बाद हर चुनाव में देश की जनता ने हमें और मजबूत कर आगे बढ़ने का मौक़ा दिया है, यह बताता है कि देश की जनता विमुद्रीकरण के फैसले के साथ खड़ी है।

• कालीकट के अधिवेशन के बाद केंद्र सरकार ने कई निर्णायक एवं विकासोन्मुखी फैसले किये हैं जैसे रेल बजट का आम बजट में विलय, फसल बीमा का इम्प्लीमेंटेशन, जीसैट – 18 का प्रक्षेपण, मानवरहित रुस्तम विमान का परीक्षण, नौसेना और थल-सेना का आधुनिकीकरण, रूस, जापान, सिगापुर के साथ महत्त्वपूर्ण समझौते इत्यादि।

• भारतीय जनता पार्टी की राज्य सरकारों ने भी इस दौरान अच्छा काम किया है, ख़ास तौर पर मध्य प्रदेश में नमामि नर्मदे, महाराष्ट्र में प्रशासनिक सुधार कार्यक्रम, हरियाणा में सस्ते घर की योजना, असम में काजीरंगा वन क्षेत्र को खाली कराने की योजना, गोवा में शत प्रतिशत कैशलेस ट्रांजेक्शन का लक्ष्य इत्यादि। पंजाब, कश्मीर, झारखंड – सभी राज्यों ने सराहनीय काम किया है।

• विमुद्रीकरण के 50 दिन पूरे होने पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 31 दिसंबर को गरीब-कल्याण योजना का पहला चरण प्रस्तुत किया। इसमें वरिष्ठ नागरिकों का पूरा ख़याल रखा गया, किसानों के लोन को दुगुना कर 42,000 करोड़ किया गया, दो महीने का ब्याज भी माफ़ किया गया, हाउसिंग लोग सस्ता किया गया।

• प्रधानमंत्री की अपील पर देश के लगभग सभी सरकारी बैंकों ने 1% ब्याज दर की कटौती की जो कि काफी महत्त्वपूर्ण है।

• मंडल से लेकर राज्य स्तर पर संगठन के दृष्टिकोण से काफी उत्तम प्रयास हुए। मंडल में 87%, जिला में 97% और राज्य स्तर पर शत-प्रतिशत कार्यसमिति की बैठकें हुई हैं।

• प्रधानमंत्री जी ने पंडित दीन दयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी समारोहों के लिए पूर्णकालिक सदस्यों को पार्टी से जोड़ने की अपील की थी, उस दिशा में भी काफी सफलता प्राप्त हुई है। 15 दिन के लिए 1 लाख 60 हजार से अधिक कार्यकर्ता पार्टी के लिए उपलब्ध रहेंगें जबकि 6 महीने और साल भर के लिए क्रमशः 17696 और 2031 पूर्णकालिक सदस्य पार्टी के लिए उपलब्ध रहेंगें।

• प्रधानमंत्री ने सभी राजनीतिक पार्टियों का भी आह्वान किया कि देश में सभी चुनाव एक साथ होने चाहिए ताकि चुनाव खर्च को कम किया जा सके। भारतीय जनता पार्टी ने इसके लिए एक समिति गठित की है, यह समिति एक प्रारूप बनाकर देश के फलक पर इस बहस को आगे बढाने का काम करेगी और चुनाव सुधार की बहुत बड़ी परिकल्पना को साकार किया जा सकेगा।

• प्रधानमंत्री जी ने राजनीतिक पार्टियों को मिलने वाले चंदे को पारदर्शी बनाने के लिए भी आह्वान किया है। पार्टी ने इसके लिए भी एक कमिटी गठित की है, इससे देश की राजनीति में बहुत बड़ा परिवर्तन आयेगा और व्यापक बदलाव होंगें। यह एक महत्त्वपूर्ण सुधार प्रक्रिया है। प्रधानमंत्री जी की अपील पर राजनीतिक दलों का तो जो भी रिएक्शन हो लेकिन देश की जनता का भरपूर समर्थन प्रधानमंत्री जी के आह्वान को प्राप्त है।

• भारतीय जनता पार्टी के लिए आगामी पांच राज्यों के विधान सभा चुनाव काफी महत्त्वपूर्ण हैं। मणिपुर सरकार ने राज्य की जनता को परेशानी में डाल रखा है, कीमतें आसमान छू रही हैं, हमने पूरे दम-ख़म के साथ मणिपुर में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है, संगठन को मजबूत किया है और इस बार हम चुनाव जीतने के लिए मैदान में हैं। हम एक बंद-मुक्त और विकास-युक्त मणिपुर का निर्माण करेंगें।

• प्रधानमंत्री जी की रैलियों का और परिवर्तन-यात्रा का उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में अभूतपूर्व स्वागत हुआ है।

• उत्तर प्रदेश में खराब और बदहाल क़ानून-व्यवस्था, जमीनों पर अवैध कब्जे एवं गुंडागर्दी मुख्य मुद्दे होंगें यूपी चुनाव में और चुनाव विकास पर लड़े जायेंगें। • हमें पूर्ण विश्वास है कि पाँचों राज्यों में भारतीय जनता पार्टी प्रचंड विजय हासिल करेगी।

• प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्त्व में हम भारत को विश्वगुरु के रूप में प्रतिष्ठित करने में सफल हों और देश को महान बनाने की दिशा में हम आगे बढ़ें, इन्हीं आशा एवं विश्वास के साथ मैं अपनी वाणी को विराम देता हूँ। भारत माता की जय!

Download PDF